क्या आर्थिक सुस्ती दूर होने लगी है? नवंबर-2019 में 23 लाख युवाओं को मिली नौकरी

क्या आर्थिक सुस्ती दूर होने लगी है? नवंबर-2019 में 23 लाख युवाओं को मिली नौकरी

नई दिल्ली : देश में आर्थिक सुस्ती और युवाओं की बढ़ती बेरोजगारी के बीच अब एक अच्छी खबर आई है। सरकारी डेटा के मुताबिक, नवंबर महीने में फॉर्मल सेक्टर में करीब 23 लाख नए लोगों को नौकरी मिली है।

क्या इसका यह मतलब यह समझा जाए कि आर्थिक सुस्ती दूर होने लगी है ? ईपीएफ, ईएसआई और एनपीएस से जानकारी सांख्यिकी मंत्रालय की रिपोर्ट के मुताबिक, नवंबर महीने में फॉर्मल सेक्टर में करीब 23 लाख 47 हजार 649 लोगों को नौकरी मिली है।

नई नौकरी के बारे में जानकारी तीन सामाजिक सुरक्षा स्कीम्स में नए रजिस्ट्रेशन के आधार पर मिलती है। डेटा के मुताबिक, नवंबर महीने में एंप्लॉयी प्रविडेंट फंड (ईपीएफ) में 8,67,963 लोग शामिल हुए हैं।

14 लाख 33 हजार लोग स्टेट इंश्योरेंस स्कीम (ईएसआई) में जुड़े और 46 हजार 686 लोग नेशनल पेंशन स्कीम के साथ जुड़े हैं।

अप्रैल 2018 के बाद से सरकार फॉर्मल सेक्टर में कितने लोगों की नौकरी लगी है इसकी हर महीने रिपोर्ट जारी करती है।

कितने लोगों को नौकरी लगी है उसकी काउंटिंग एनपीएस, ईएसआई और एनपीएस सब्सक्रिप्शन के आधार पर की जाती है। अगर किसी संस्थान में 20 से ज्यादा कर्मचारी काम करते हैं तो ईपीएफ जरूरी हो जाता है।

10 से ज्यादा कर्मचारी होने पर सभी कर्मचारियों के लिए ईएसआई की सुविधा जरूरी है। नेशनल पेंशन स्कीम में कोई भी भारतीय शामिल हो सकता है, जिसकी उम्र 18-60 के बीच है।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma