हिन्दू-मुस्लिम भाईचारा : कश्मीर में मुस्लिमों ने कश्मीरी पंडित महिला की अर्थी को दिया कंधा

हिन्दू-मुस्लिम भाईचारा : कश्मीर में मुस्लिमों ने कश्मीरी पंडित महिला की अर्थी को दिया कंधा

बांडीपोरा : कश्मीर घाटी में सुधरते हालात के बीच मुद्दत बाद हिन्दू-मुस्लिम भाईचारा देखने को मिला। इस भाईचारे ने उत्तर कश्मीर के बांडीबोरा में कश्मीरियत को जिंदा रखा।

ऐसे दृश्य 90 के दशक से पहले दिखाई देते थे। बांडीपोरा जिले में मुस्लिम समुदाय के लोगों ने एक कश्मीरी पंडित महिला की अर्थी को कंधा देने के साथ अंतिम संस्कार का पूरा प्रबंध किया।

बांडीपोरा जिले के अजर इलाके में कुछ कश्मीरी पंडित परिवार रहते हैं। मंगलवार देररात दीनानाथ की लंबे समय से बीमार पत्नी जय किशोरी (80) की मृत्यु हो गई।

इसकी सूचना पाकर पड़ोस में रहने वाले मुस्लिम परिवार दीनानाथ के घर पहुंच गए।उन्होंने शोक में डूबे परिवार को सांत्वना दी। साथ ही अंतिम संस्कार का प्रबंध करते हुए अर्थी को कंधा दिया।

बांडीपोरा जिले के अजर इलाके में कई कश्मीरी पंडितों के परिवार रहते हैं। इन परिवारों ने 90 के दशक में भी घाटी से पलायन नहीं किया। तब से यह इलाका भाईचारे के लिए प्रसिद्ध है। दोनों समुदाय के लोग एक-दूसरे की खुशी और गम में शरीक होते हैं।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma