नहीं रहे आजाद हिंद फौज के सिपाही छोटूराम

नहीं रहे आजाद हिंद फौज के सिपाही छोटूराम

झज्जर : आजाद हिंद फौज के सिपाही व महान स्वतंत्रता सेनानी छोटूराम रविवार को पंचतत्व में विलीन हो गए। उनका पैतृक गांव धौड़ में राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया।

हरियाणा पुलिस की टुकड़ी ने मातमी धुन के साथ हवाई फायर कर उन्हें अंतिम सलामी दी। प्रशासन की ओर से नायब तहसीलदार बेरी रमेश कुमार ने अंतिम संस्कार में पहुंचकर स्वतंत्रता सेनानी के पार्थिव शरीर पर पुष्पांजलि अर्पित की।

बड़े सुपुत्र रिटायर्ड तहसीलदार रिहेबिटेशन रणबीर सिंह ने स्वतंत्रता सेनानी छोटूराम के पार्थिव शरीर को मुखाग्रि दी।

स्वतंत्रता सेनानी की अंतिम यात्रा में स्वतंत्रता सेनानी आयोग के चेयरमैन ललतीराम, हरियाणा स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी संगठन के झज्जर जिलाध्यक्ष रवि कादियान, पूर्व विस अध्यक्ष डा. रघुबीर सिंह कादयान की धर्मपत्नी उत्तरा कादयान, कप्तान जयचंद, कप्तान बस्तीराम, सुबेदार सुभाचंद, आर्यसमाज के मंत्री मांगेराम सहित आस-पास के गांवों के अनेक गणमान्य व्यक्ति शामिल हुए और पार्थिव शरीर पर पुष्प चक्र अर्पित कर अपनी भावभीनी श्रद्घाजंलि अर्पित की।

स्वतंत्रता सेनानी छोटूराम के परिवार में रिटायर्ड जूनियर इंजिनियर जसबीर सिंह पुत्र, श्रीमती यंशवंती पुत्री, जसवंती पुत्री, सतवंती पुत्री, शिववंती पुत्री, सभी पुत्रियां अध्यापक के पद से रिटायर्ड हैं।

स्वतंत्रता सेनानी संगठन के लगाया अनदेखी का आरोप

हरियाणा स्वतंत्रता सेनानी उत्तराधिकारी संगठन के झज्जर जिलाध्यक्ष रवि कादयान ने स्वतंत्रता सेनानी स्वर्गीय छोटूराम के निधन पर शासन व प्रशासन द्वारा की गई उपेक्षा पर अपना रोष जताया।

उनका कहना था कि सरकार द्वारा जारी निर्देश में स्पष्ट कहा गया है कि ऐसे मौके पर गार्ड ऑफ ऑनर की सलामी दी जाएगी लेकिन प्रशासन की तरफ से नायब तहसीलदार बगैर तिरंगे के पहुंचे।

इस मौके पर तिरंगे के साथ ही दिवंगत स्वतंत्रता सेनानी को मरणोपरान्त श्रद्धाजंलि दी जाती है। उन्होंने कहा कि हरियाणा सरकार की तरफ से भी कोई मंत्री उन्हें श्रद्धाजंलि अर्पित करने नहीं पहुंचा जो निंदनीय है।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma