बाबूलाल को विधानसभा सदस्यता से त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल होना चाहिए : सुप्रियो भट्टाचार्य

बाबूलाल को विधानसभा सदस्यता से त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल होना चाहिए : सुप्रियो भट्टाचार्य

रांची : झारखंड मुक्ति मोर्चा के केंद्रीय महासचिव सह प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा है कि सोमवार को बाबूलाल मरांडी के साथ कार्यकर्ताओं का नहीं, बल्कि उनके कुछ कर्मियों का ही भाजपा में विलय होगा।

उन्होंने कहा कि बाबूलाल मरांडी ने राजधनवार में गैर भाजपा मतदाताओं के समर्थन से चुनाव में जीत हासिल की, ऐसे में उन्हें विधानसभा सदस्यता से त्यागपत्र देकर भाजपा में शामिल होना चाहिए।

Uploaded Image

सुप्रियो भट्टाचार्य ने यह भी कहा कि भाजपा की जहाज अब डूबने वाली है। सुप्रियो भट्टाचार्य ने रांची में पत्रकारों से बातचीत में कहा कि बाबूलाल मरांडी के फिर से भाजपा में शामिल होने का पहले ही अंदेशा था, वे खुद को भाजपा के बिना अधूरा पाते थे।

उन्होंने कहा कि जिन मुद्दों को लेकर बाबूलाल मरांडी ने भाजपा से त्यागपत्र दिया और झाविमो का गठन का निर्णय लिया, बाद में कभी विपक्ष का साथ लेते रहे, कभी विपक्ष में रहने का आभामंडल भी बनाया, लेकिन पार्टी पहले ही सच्चाई जान चुकी थी।

उन्होंने यह भी कहा कि वर्ष 2014 के विधानसभा में भाजपा को बहुमत से कम 37 सीटें आयी, जिसके बाद बाबूलाल मरांडी दिल्ली जाकर भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व से आग्रह किया कि वे घबराये नहीं, वे झाविमो के आठ में से छह विधायकों को देने जा रहे है।

Uploaded Image

उन्होंने कहा कि बाबूलाल मरांडी ने भाजपा को मदद के लिए अपने विधायकों को उपयोगी वस्तु बनाने की कोशिश की और इस बार तीन विधायक चुनाव जीत कर आये, जब दो विधायकों को यह भनक मिली कि बाबूलाल मरांडी फिर उन्हें उपयोगी वस्तु बनाने की कोशिश कर रहे है, तो दोनों विधायकों ने नाराजगी जाहिर की, जिसके बाद बाबूलाल मरांडी के पास अब कोई विकल्प नहीं बचा था।


ख़बरें दबाव में हमेशा आपके हितों से समझौता करती रहेंगी। हमारी पत्रकारिता को हर तरह के दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।

HELP US

news aroma