19 C
Ranchi
Friday, February 26, 2021
Home खबर साल 2021 में चीन का पहला अंतरिक्ष प्रक्षेपण

साल 2021 में चीन का पहला अंतरिक्ष प्रक्षेपण

बीजिंग: चीन ने बुधवार को दक्षिण-पश्चिम चीन के सछ्वान प्रांत में शीछांग उपग्रह प्रक्षेपण केंद्र से एक नया मोबाइल दूरसंचार उपग्रह सफलतापूर्वक लॉन्च किया। यह साल 2021 में देश का पहला अंतरिक्ष प्रक्षेपण है।

इस नया मोबाइल दूरसंचार उपग्रह थ्येनथोंग 1-03 को लांग मार्च-3बी वाहक रॉकेट द्वारा देर रात 12:25 बजे (बीजिंग समय) लॉन्च किया गया और यह सफलतापूर्वक योजनाबद्ध कक्षा में प्रवेश कर गया।

यह लॉन्ग मार्च रॉकेट श्रृंखला द्वारा 358वां लॉन्च था।

हालांकि, थ्येनथोंग-1एक उपग्रह मोबाइल संचार प्रणाली है जो स्वतंत्र रूप से चीन द्वारा विकसित और निर्मित है।

इसमें स्पेस सेगमेंट, ग्राउंड सेगमेंट और यूजर टर्मिनल शामिल हैं।

इसके लॉन्च होन ेके बाद देश की संचार व्यवस्था और ज्यादा मजबूत हो जाएगी।

इससे इंटरनेट की स्पीड बढ़ेगी, साथ ही देश में जहां नेटवर्क नहीं है, वहां मोबाइल नेटवर्क को विस्तार होगा।

बहरहाल, इस उपग्रह के निर्माण की बात करें तो इसे चाइना एकेडमी ऑफ स्पेस टेक्नोलॉजी ने विकसित किया है।

थ्येनथोंग 1-03 उपग्रह सभी मौसम, सभी समय, स्थिर और विश्वसनीय मोबाइल संचार सेवाएं देने के लिए जमीनी सुविधाओं के साथ एक मोबाइल नेटवर्क स्थापित करेगा।

चीन और उसके आसपास के क्षेत्र, मध्य-पूर्व, अफ्रीका और अन्य संबंधित क्षेत्रों, में उपयोगकतार्ओं के लिए मोबाइल संचार सेवाएं जैसे वॉयस, लघु संदेश और डेटा प्रदान करेगा।

इतना ही नहीं, प्रशांत महासागर और हिंद महासागर के अधिकांश क्षेत्रों में भी उपयोगकतार्ओं को सेवा देगा।

चीन की तीसरी सबसे बड़ी मोबाइल नेटवर्क प्रदाताकंपनी चाइना टेलीकॉम थ्येनथोंग उपग्रह संचार सेवाओं का संचालन और विपणन करती है।

दरअसल, चीनअपने अंतरिक्ष कार्यक्रम को अंजाम देने में अरबों डॉलर खर्च करता है।

चीन के सबसे बड़े रॉकेट कॉन्ट्रैक्टर, चाइना एयरोस्पेस साइंस एंड टेक्नोलॉजी कॉरपोरेशन (सीएएससी) की माने तो चीन की वर्ष 2021 में 40 मिशन शुरू करने की योजना है।

इस साल के मिशनों का मुख्य फोकस चीन का अपना अंतरिक्ष स्टेशन का निर्माण करने पर होगा।

इसके अलावा, इस फरवरी को चीन के मंगलयान थ्येनवन-1 का भी मंगल के गुरुत्वाकर्षण तक पहुंचने की उम्मीद है।

(साभार—चाइनामीडियाग्रुप, पेइचिंग)