19 C
Ranchi
Sunday, March 7, 2021
Home करियर झारखंड के सभी जिले में इंजीनियरिंग, मेडिकल व पॉलिटेक्निक कॉलेज खोलने की...

झारखंड के सभी जिले में इंजीनियरिंग, मेडिकल व पॉलिटेक्निक कॉलेज खोलने की जरूरत

धनबाद: भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी ने कहा कि झारखंड बनने के बाद तकनीकी शिक्षा का विकास हुआ है।

लेकिन यहां दक्षिण भारत की तरह प्रत्येक जिले में इंजीनियरिंग मेडिकल पॉलिटेक्निक नर्सिंग एवं प्रबंधन कॉलेज खोलने की जरूरत है।

इसके लिए सरकार को प्राइवेट सेक्टरों को बुलाकर उन्हें सारी सहूलियत देनी होगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री रहते निजी संस्थानों को बीएड कॉलेज खोलने की अनुमति दी थी।

इसके पूर्व राज्य में गिने-चुने बीएड कॉलेज ही थे। वह बुधवार को केके ग्रुप ऑफ़ इंस्टिट्यूशन नेरो में दिनकर सभागार के उद्घाटन एवं बीएड कॉलेज के पास आउट विद्यार्थियों के विदाई समारोह को संबोधित कर रहे थे।

मरांडी ने कहा कि रिस्क लेने वाले ही रवि चौधरी जैसे आगे बढ़ते हैं। धनबाद विधायक राज सिन्हा ने कहा कि के के ग्रुप में कोयलांचल को एक नई पहचान दी है।

शिक्षा के क्षेत्र में रवि चौधरी का योगदान अतुलनीय है।

निरसा विधायक अपर्णा सेनगुप्ता ने कहा कि कोयलांचल में इस तरह के और संस्थानों की जरूरत है, ताकि यहां के विद्यार्थी तकनीकी शिक्षा के लिए दक्षिण भारत नहीं जाएं।

भाजपा नेता गणेश मिश्रा ने कहा कि गोविंदपुर जैसे सुदूर इलाके में इतने बड़े संस्थान की स्थापना के लिए रवि चौधरी की सराहना की जानी चाहिए।

इस अवसर पर कोलकाता के फरमाइश बैंड ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किए। विद्यालय की छात्रा नयनिका चक्रवर्ती, बलराम चक्रवर्ती, ऋषिका, दीपक कुमार आदि ने अपनी कला का प्रदर्शन किया।

इन विद्यार्थियों को मिला सम्मान

बीएड की टॉप टेन सफल छात्राओं कुमारी सुमन शर्मा, नयनिका चक्रवर्ती, सविता तुलसियान, अदिति तिवारी, अर्चना कुमारी, अर्पिता मुखर्जी, पूजा कर्मकार, इंदिरा कुमारी, नाज परवीन, नूपुर पाल, पूनम प्रिया, प्रभाकर कुमार आदि को मरांडी ने सील एवं प्रशस्ति पत्र देकर कॉलेज की ओर से सम्मानित किया।

- Advertisement -