24 C
Ranchi
Tuesday, April 13, 2021
- Advertisement -

धनबाद में नकाबपोश ने घरवालों को बंधक बनाकर 15 लाख की संपत्ति लूटी

- Advertisement -

धनबाद: जिले के निरसा स्थित गलफरबाड़ी मोड़ पर नकाबपोश पांच बदमाशों ने रविवार देर रात भीषण डकैती की घटना को अंजाम दिया।

हथियारों से लैस डकैतों ने न सिर्फ गृहस्वामी को मारापीटा, बल्कि उनका हाथपांव बांधकर घर से 15 लाख से अधिक की संपत्ति लूट लिया।

पीड़ित गृहस्वामी राशिद अनवर उर्फ लाला पेशे से कपड़ा व्यवसायी है। उन्होंने घटना के बारे में बताया कि रविवार की देर रात दो से ढाई बजे के बीच घर के रसोई की खिड़की को तोड़कर पांच नकाबपोश बदमाश घर में प्रवेश कर गए। बदमाशों ने पहले उनके कमरे का दरवाज खटखटाया।

शक होने पर जब उन्होंने कमरे का दरवाजा नहीं खोला तो बदमाशों ने दरवाजा ही तोड़ दिया। इसके बाद बदमाशों ने उनके साथ मारपीट की और उनका हाथपांव बांध दिया।

राशिद ने बताया कि इस दौरान बदमाशों ने घर के बाकी सदस्यों उनकी पत्नी, दो बच्चों और उनकी बुआ को भी बंदूक के दम पर बंधक बना लिया। बदमाश घर में रखे सात लाख रुपये नगदी और आठ लाख रुपये के गहनें लूट ले गए।

वारदात को अंजाम देने के बाद सभी बदमाश किचन की खिड़की के रास्ते फरार हो गए।

बदमाशों ने घर के किचन में प्रवेश करने के लिए जमीन से खिड़की तक एक सीढ़ी लगाया था।

साथ ही घटना को अंजाम देने से पूर्व घर के मालिक सहित बाकी लोगों का मोबाइल फोन भी कब्जे में कर लिया था।

सोमवार की सुबह जब पड़ोसियों को कुछ गलत होने का शक हुआ तब उन्होंने इसकी सूचना गलफरबाड़ी ओपी पुलिस को दी।

बताया गया है कि घर के मालिक समेत बाकी सदस्य इस घटना से इतने डरे हुए थे कि उन्होंने खुद को घर में कैद कर लिया था। मौके पर पहुंची के काफी देर तक आवाज लगाने के बाद भी उन्होंने भय से घर का दरवाजा नहीं खोला।

गृहस्वामी को जब यह पुख्ता विश्वास हो गया कि आवाज लगाने वाले कोई डकैत नहीं, बल्कि पुलिस है तब जाकर उन्होंने घर का दरवाजा खोला।

इलाके के दारोगा वशिष्ट नारायण सिंह ने बताया कि इस भीषण डकैती कांड को लेकर अब तक जितने भी तथ्य सामने आए हैं, उससे यही प्रतीत होता है कि इस वारदात को स्थानीय बदमाशों ने ही अंजाम दिया है।

बदमाशों को इस घर और इस घर के लोगों के बारे में पूरी जानकारी थी। उन्होंने कहा कि इस घटना को अंजाम देने वाले बदमाश बच नहीं पाएंगे और जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में होंगे।

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -spot_img