25.9 C
Ranchi
Sunday, May 9, 2021

कई योजनाओं का सरकार ने की नाम बदलकर अपनी पीठ थपथपाने की कोशिश: दीपक प्रकाश

spot_img

रांची : हेमंत सरकार के वित्तमंत्री रामेश्वर उरांव की ओर से विधानसभा में पेश किए गए बजट पर भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने कहा कि इस बजट ने राज्य के युवाओं, किसानों, महिलाओं और गरीबों यानी सबको निराश किया है।

इसमें कुछ उम्मीद की किरण अगर है तो वह केंद्रीय सहायता से चलने वाली योजनाएं है, जिनका इस सरकार ने बड़ी चालाकी से नाम बदलकर अपनी पीठ थपथपाने की कोशिश की है।

वे बुधवार को पार्टी कार्यालय में पत्रकार वार्ता कर रहे थे। उन्होंने उदाहरण देते हुए कहा कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना और आयुष्मान भारत योजना का नाम बदलकर राज्य सरकार ने क्रेडिट लेने का प्रयास किया गया है।

साथ ही कहा कि बजट में राज्य के ज्वलंत मुद्दे बेरोजगारी, शिक्षा, स्वास्थ्य, सड़क, बिजली,पानी, ग्रामीण विकास, विधि व्यवस्था के साथ औद्योगिक विकास और लघु कुटीर उद्योग के विकास पर कोई सार्थक पहल नहीं की गई है।

सांसद ने कहा कि एक तरफ यह सरकार लगातार केंद्र सरकार को दोष देती है, जबकि बजट में किये गए अधिकांश प्रावधान केंद्रीय सहायता से ही पूरे होने की बात कही गई है।

बजट भाषण में सतत विकास की बात कही गई है लेकिन यह सरकार इसमें विश्वास नहीं करती है। इस सरकार में योजनाएं बंद की गई हैं।

यह सरकार पुरानी घोषणाओं को भी धरातल पर नहीं उतार सकी है। बेरोजगारी भत्ते, किसानों की ऋण माफी और एमएसपी पर धान खरीद आदि सभी योजनाएं धरीं रह गई।

उन्होंने कहा कि कोविड के लिये केंद्र सरकार ने जो 200 करोड़ रुपये की सहायता दी थी, उसका राज्य सरकार ने बंदरबांट कर दिया।

इस बजट में भी अधिकांश आय केंद्रीय सहायता और केंद्रीय करों से ही दिखाया गया है फिर जनता के बीच केंद्र को कोसने में यह सरकार कोई कसर नहीं छोड़ती।

पत्रकार वार्ता में प्रदेश कोषाध्यक्ष दीपक बंका और प्रदेश प्रवक्ता अविनेश कुमार भी उपस्थित थे।

आज की हर ख़बर

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here