25 C
Ranchi
Monday, May 17, 2021

पारा शिक्षक बोले- पिछली रघुवर सरकार से भी ज्यादा खराब निकली हेमंत सरकार

spot_img
- Advertisement -

रांची: हर आंदोलन में रांची जिले के पारा शिक्षक-शिक्षिकाओं की भागीदारी हंड्रेड परसेंट होनी चाहिए।

सभी से मेरा आग्रह है कि आंदोलन के क्रम में एकरूपता बनी रहे और सभी बढ़-चढ़कर हिस्सा लें, नहीं तो हम स्कूल-स्कूल का राग अलापते रह जायेंगे और 2022 में हम सभी को आराम से घर पर बैठना पड़ेगा।

- Advertisement -

उस वक्त आपको आंदोलन करने का मन करेगा, लेकिन आंदोलन करने से भी कोई फायदा नहीं होगा।

- Advertisement -

इसलिए समय रहते हुए रांची जिले के सभी पारा शिक्षक-शिक्षिकाएं जाग जायें, अन्यथा हमलोग न घर के रहेंगे, न घाट के।

उक्त बातें पिछले दिनों (मंगलवार को) धुर्वा स्थित प्रभात तारा मैदान में एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा की रांची जिला कमिटी की हुई बैठक में कमिटी के जिला अध्यक्ष मोहम्मद शकील ने कहीं।

- Advertisement -

बैठक की अध्यक्षता जिला अध्यक्ष मोहम्मद शकील ने की संचालन महावीर पहान एवं जावेद रियाज ने संयुक्त रूप से किया।

बैठक में निर्णय हुआ कि सभी प्रखंडों के अगुवा साथी अपने-अपने प्रखंड के पारा शिक्षक-शिक्षिकाओं के संपर्क में रहते हुए आंदोलन के लिए उत्प्रेरित करने का काम करेंगे।

Jharkhand Teacher Salary; Jharkhand Para Teacher Salary Scale Proposal Prepared News Updates On Para Teachers News | पारा शिक्षकों को वेतनमान देने का प्रस्ताव तैयार, नए मंत्री का इंतजार - Dainik ...

सभी प्रखंड के अगुवा साथी अपने कर्तव्य और जिम्मेदारी का ठीक तरह से निर्वहन करें। जहां कहीं भी दिक्कत हो, जिला कमिटी से संपर्क करें।

अब अपना हक छीनकर लेने की आदत डालनी होगी

बैठक में विभिन्न प्रखंडों से यह विचार आया कि हेमंत सोरेन सरकार भी पारा शिक्षकों के साथ वादाखिलाफी करते हुए गद्दारी का काम कर रही है।

यह सरकार तो रघुवर दास सरकार से भी ज्यादा खराब सरकार निकली।

रघुवर दास ने तो मानदेय भी बढ़ाया था, एकमुश्त 5000 रुपये की बढ़ोतरी की थी, लेकिन इस हेमंत सरकार ने तो आंदोलन करने पर पैसा ही काट लिया।

इसलिए अब इस सरकार से मांगने से कुछ नहीं मिलनेवाला है। अब अपना हक छीनकर लेने की आदत डालनी होगी।

राजधानी में पांच रूटों पर चक्का जाम करने का निर्णय

जिला कमिटी में सभी के समक्ष यह निर्णय हुआ कि अब राजधानी में पांचों रूट में राज्यस्तरीय चक्का जाम का कार्यक्रम किया जाये, तब हेमंत सरकार की नींद खुलेगी और रिजल्ट तुरंत सामने आ जायेगा।

विधानसभा के सामने गरजे पारा शिक्षक, स्थायीकरण व वेतनमान की मांग को लेकर किया प्रदर्शन

इस निर्णय को प्रदेश कमिटी तक पहुंचाने पर सहमति बनी। बैठक को विभिन्न प्रखंडों से आये पारा शिक्षकों ने भी संबोधित किया और अब उग्र आंदोलन करने का निर्णय लिया।

अगली बैठक में जिला कमिटी का होगा विस्तार

बैठक में जिला कमिटी विस्तार को स्थगित कर दिया गया। अगली बैठक की तिथि जिला कमिटी द्वारा तय की जायेगी, जिसमें जिला कमिटी का विस्तार किया जायेगा।

जिला कमिटी के ओहदेदारों ने बताया कि अगली बैठक में बगैर किसी प्रखंड के प्रतिनिधि के इंतजार के जिला कमिटी का विस्तार कर दिया जायेगा, इसलिए उस बैठक में सभी प्रखंड के पारा शिक्षक प्रतिनिधि हर हाल में उपस्थित होना सुनिश्चित करेंगे।

मंगलवार को हुई बैठक में मोहम्मद शकील के अलावा जिला कमिटी के महावीर पाहन, जावेद रियाज, तीर्थ नाथ महतो, राजन उरांव भी मौजूद थे।

- Advertisement -

Related posts

रांची के इस सब्जी मंडी को किया गया सील, डेलीमार्केट में सोशल डिस्टेंसिंग के लिए बनाया गया घेरा

रांची: सुखदेवनगर नगर थाना के बगल में स्थित मधुकम, खादगढ़ा सब्जी मंडी में स्वास्थ्य सुरक्षा...

रांची में आज फिर से हुआ बवाल, तीन थानों की पुलिस ने संभाला मोर्चा

रांची: राजधानी रांची के डोरंडा में शनिवार को हुए घटना को लेकर आज फिर लोग...

रांची के इस अस्पताल में ब्लैक फंगस से हुई आज एक और मौत,10 से अधिक मरीजों का मेडिका और रिम्स में चल रहा इलाज

रांची: झारखंड में भी ब्लैक फंगस जानलेवा होता जा रहा है। रविवार को राजधानी रांची...

सीएम हेमंत सोरेन ने चेशायर होम व नंदराज वृद्ध आश्रम पहुंचे, मिलने वाली सुविधाओं से हुए अवगत

रांची: मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन रविवार को बरियातू रोड रांची स्थित चेशायर होम तथा नंदराज वृद्ध...
spot_img
spot_img

Most popular