25.9 C
Ranchi
Sunday, May 9, 2021

कोरोना वायरस संक्रमण को रोकेगी नीम, सफल रहा Clinical Trial ; 150 लोग रिसर्च में हुए शामिल

spot_img

नई दिल्ली: कोरोना वायरस संक्रमण पर प्राचीन भारतीय आयुर्विज्ञान ही सफलता प्राप्त करेगी। हरियाणा के ईएसआइसी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल में कोरोना पर नीम के प्रभाव को जानने की हुआ क्लीनिकल ट्रायल (Clinical Trial) सफल रहा है।

क्लीनिकल ट्रायल की रिपोर्ट के अनुसार नीम की गोली कोरोना संक्रमण (Corona Epidemic) की रोकथाम में कारगर साबित हो सकती है।

यह ट्रायल ईएसआइसी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पताल, ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ आयुर्वेद और निसरगा बायोटेक प्राइवेट लिमिटेड ने गत वर्ष अगस्त माह में संयुक्त रूप से शुरू किया था, तब से ही इस पर रिसर्च जारी थी।

55 फीसद संक्रमण कम करने में प्रभावशाली

रिसर्च में पाया गया है कि नीम की गोली पूरी तरह सुरक्षित है और इससे जान को भी कोई जोखिम नहीं है। यह गोली कोरोना संक्रमण के खतरे 55 फीसद तक कम करने में प्रभावशाली है।

कई समस्याओं का एक हल नीम का तेल, ब्यूटी से लेकर सेहत तक देगा कमाल के फायदे  | Neem oil, a solution to many problems, will give amazing benefits from  beauty to

इसके अलावा यदि स्वस्थ व्यक्ति लगातार 28 दिन तक नीम की गोलियों का सेवन सुबह शाम दो बार करता है तो वह संक्रमण रोधी प्रतिरोधक क्षमता विकसित कर लेता है।

यह वैक्सीन जितना कारगर है। नियमित नीम की गोलियों का सेवन करने पर यदि किसी व्यक्ति को संक्रमण होता भी है, तो यह मामूली वायरल जितना ही असर करेगा।

ऐसे में कोरोना से जान जाने का खतरा कई गुना कम होगा। ईएसआइसी मेडिकल कालेज एवं अस्पताल के रजिस्ट्रार डॉ। एके पांडेय का दावा है कि इस उपाय को अपनाकर लाखों जिंदगी बचाई जा सकती हैं।

150 लोग रिसर्च में हुए शामिल 

रिसर्च में 190 ऐसे लोगों को शामिल किया गया, जो स्वास्थ्य कर्मी थे या उनसे जुड़े हुए लोग थे।

Neem Tablets, नीम की गोली in Gandhipuram, Coimbatore , Green Gift | ID:  20659058491

इसमें 18 से 60 की उम्र के लोगों को शामिल किया गया। इसमें से कुछ लोगों को सुबह-शाम 28 दिन तक 50 एमजी के नीम की गोली दी गई।

कुछ को प्रयोग औषधि(प्लेसिबो) दी गई। देश में अपनी तरह की यह पहली रिसर्च है, जिसे अंतरराष्ट्रीय मेडिकल जरनल अलरनेटिव थैरेपी इन हेल्थ एंड मेडिसिन में जगह मिली है।

अन्य कई बीमारियों में भी देती राहत

नीम की गोली का प्रभाव केवल कोरोना पर नहीं देखा गया बल्कि रिसर्च के दौरान इसके अन्य लाभ भी सामने आए हैं।

नीम की गोली मोटापे, मधुमेह से परेशान लोगों और कोलेस्ट्राल के मरीजों के लिए भी काफी लाभकारी साबित हो सकती है।

इसके अलावा रिसर्च में शामिल 190 में से 25 लोगों को वजन कम करने में भी मदद मिली।

डॉ. एके पांडेय के अनुसार कोरोना से बचाव का टीका महत्वपूर्ण है और सभी को लगवाना चाहिए। टीके की दूसरी डोज लगने के 14 दिन बाद एंटी बॉडी बनती है।

एंटी बॉडी बनने तक नियमित रूप से नीम की गोली को नियमित रूप से खाया जा सकता है। यदि कोई संक्रमित भी हो जाता है, तो संक्रमण के प्रभाव से गंभीर नहीं होगा।

आज की हर ख़बर

Related Articles

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here