34 C
Ranchi
Friday, April 16, 2021
- Advertisement -

शहीदों के परिजनों को भवन निर्माण के लिए मुफ्त मिलेगी श्रीसीेमेंट

- Advertisement -

अजमेर: भारतीय सेना के दक्षिणी-पश्चिमी कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग-सी, लेफ्टीनेंट जनरल आलोक क्लेर, परम विशिष्ठ सेवा मेडल, विशिष्ठ सेवा मेडल ने शहीदों के परिवारों के लिए एक परियोजना नमन का आगाज किया।

देश की प्रमुख सीमेंट कंपनी श्री सीमेंट द्वारा पोषित इस राष्ट्रीय योजना के अंतर्गत पिछले 20 वर्षों में सशस्त्र सेनाओं के शहीदों के परिवारों को अपना घर बनाने के लिए कंपनी द्वारा मुफ्त सीमेंट उपलब्ध करवाई जायेगी। परियोजना का शुभारंभ विजय दिवस से पूर्व किया गया।

1971 के बांगलादेश युद्ध में भारत की जीत एवं भारतीय सेना के सैनिकों के सर्वोच्च बलिदान की यादगार में 16 दिसंबर को विजय दिवस के रूप में मनाया जाता है।

नमन योजना के अन्तर्गत 1 जनवरी 1999 से 1 जनवरी 2019 की अवधि में सशस्त्र सेना के जो सैनिक संग्राम में शहीद हुए उनके परिवार अथवा निकटतम परिजनों को 4000 वर्ग फुट तक के भूखण्ड में स्वयं के निवास का निर्माण करने के लिए श्री सीमेंट द्वारा मुफ्त सीमेंट उपलब्ध करवाई जायेगी।

ऐसे परिवार देश में स्थित श्री सीमेंट कंपनी के किसी भी कारखाने या ईकाई में सम्पर्क कर सीमेंट प्राप्त करने के लिए आवेदन कर सकते हैं। योजना के शुभारंभ के अवसर पर लेफ्टीनेंट जनरल आलोक क्लेर के द्वारा दो वीर नारियों सुनीता देवी एवं सुदेश के नाम से सीमेंट रीलीज आदेश जारी किये गये।

इस अवसर पर योजना की विधिवत शुरूआत करते हुए लेफ्टीनेंट जनरल आलोक क्लेर ने कहा देश कीसेवा में अपने जीवन की आहुति देने वाले वीर सपूतों के प्रति आस्था और संबल प्रदान करने के लिए श्री सीमेंट का यह एक प्रशंसनीय कदम है। यह एक अभूतपूर्व और अनूठी पहल है।

शहीदों के कल्याण के लिएश्री सीमेंट की यह पहल सही अर्थ में भारतीय सेना के इतिहास मेंअपनी अलग पहचान बनाये रखेगी। देश के अन्य बड़े उद्योग भी इस कदम से प्रेरणा लेंगे।

उन्होंने कहा कि देश की सेनाओं एवं सर्वोच्च बलिदान देने वाले शहीदों के लिए और भी कदम उठाये जाने की आवश्यकता है और उनके कल्याण के लिए कोर्पोरेट क्षेत्र को आगे आना चाहिए।

इस अवसर पर श्री सीमेंट के संयुक्त प्रबन्ध निदेशक प्रशांत बाँगड ने कहा चूंकि घर के निर्माण में सीमेंट की महती भूमिका है, नमन योजना के माध्यम से शहीदों के परिवारों को अपना घर बनाने के लिए यह भूमिका वे निभा सकते हैं।

उनके लिए गौरव का विषय है। यह योजना भारत सरकार के रक्षा मंत्रालय द्वारा केंद्रीय सैनिक बोर्ड, राज्य सैनिक बोर्डों एवं जिला सैनिक बोर्डों के सहयोग से संचालित की जायेगी।

इस अवसर पर कंपनी के अध्यक्ष (वाणिज्यिक) संजय मेहता एवं संयुक्त अध्यक्ष (वाणिज्यिक) अरविंद खीचा, उपाध्यक्ष के. के. जैन एवं कंपनी सचिव एस. एस. खंडेलवाल भी उपस्थित थे।

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -spot_img