30 C
Ranchi
Friday, April 16, 2021
- Advertisement -

हेमंत सरकार से बाबूलाल ने किए सवाल, पूछा- प्रतिष्ठित महिला के साथ अपमानजनक पत्राचार की हिम्मत देवघर पुलिस प्रशासन ने कैसे की?

- Advertisement -

न्यूज़ अरोमा रांची: झारखंड में भाजपा विधायक दल के नेता एवं पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने कहा कि सांसद निशिकांत दुबे की पत्नी और फैशन इंडस्ट्री की संचालिका अनामिका गौतम को झारखंड पुलिस द्वारा भेजा गया नोटिस न केवल अपमानजनक है, बल्कि यह भी प्रमाणित करता है कि झारखंड की हेमंत सरकार राजनीतिक विद्वेष से ऐसी कार्रवाई कर रही है।

मरांडी ने रविवार को कहा कि किसी प्रतिष्ठित महिला के साथ ऐसे अपमानजनक पत्राचार की हिम्मत देवघर पुलिस प्रशासन ने कैसे की?

मुख्यमंत्री को इसका जवाब देना चाहिये। उन्होंने कहा कि 48 घंटे के भीतर स्वयं उपस्थित हों, यह किस प्रकार की भाषा?

उन्होंने कहा कि मुझे विश्वास है कि यह नोटिस मुख्यमंत्री की जानकारी में नहीं होगा लेकिन अगर उनकी जानकारी में हुआ है और वे पत्र के मजमून से इत्तेफाक रखते हैं तो जनता इसका जवाब देगी।

मुख्यमंंत्री को इसका हिसाब देना होगा और यह लंबे समय तक याद रखा जाएगा।

मरांडी ने कहा कि राजनीतिक प्रतिद्वंदिता की वजह से नेताओं के परिजनों को घसीटना और पुलिस का स्वयं को अदालत मान लेना यह दर्शाता है कि झारखंड में राजनीतिक विरोधियों को पुलिस द्वारा साधने की कोशिश की जा रही है।

उन्होंने मुख्यमंत्री से मांग कि इस तरह के कार्य को तुरंत बंद किया जाए, ताकि लोकतंत्र की गरिमा बची रहे। पुलिस के द्वारा इस तरह के कार्य करवाना राजनीतिक पतन को दर्शाता है।

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -spot_img