33 C
Ranchi
Friday, April 16, 2021
- Advertisement -

दोहा में अफगान शांति वार्ता की टीमों के बीच बैठक

- Advertisement -

काबुल: शांति वार्ता के लिए नियमों और प्रक्रियाओं के बारे में महीनों की जद्दोजहद के बाद, अफगानिस्तान की सरकार और तालिबान के बीच कतर की राजधानी दोहा में बातचीत शुरू हुई। अफगानिस्तान के शांति मंत्रालय ने रविवार को यहां जारी एक बयान में ये बात कही।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के अनुसार, बयान में कहा गया है, बैठक का एजेंडा तय करने के लिए इस्लामिक रिपब्लिक ऑफ अफगानिस्तान और विपक्षी पक्ष की संयुक्त समिति की पहली बैठक दोहा में (शनिवार को) को हुई।

दोनों पक्षों के बीच शांति वार्ता औपचारिक रूप से 12 सितंबर को दोहा में शुरू की गई थी। हालांकि, नियमों पर असहमति के कारण वार्ता में देरी हुई।

राष्ट्रपति मोहम्मद अशरफ गनी ने एक दिन पहले ही देश की हाई काउंसिल फॉर लेशनल रिकंसिलिएशन (एचसीएनआर) की पहली बैठक का उद्घाटन किया था।

इस दौरान गनी ने तालिबान से देशव्यापी युद्धविराम का पालन करने के लिए आह्वान किया जिसे आतंकवादी समूह ने मानने से इनकार कर दिया।

बैठक को संबोधित करते हुए, एचसीएनआर के अध्यक्ष, अब्दुल्ला अब्दुल्ला ने कहा कि अफगान लोगों को पहले से कहीं अधिक राजनीतिक एकता और एक जरूरी समावेशी संघर्ष विराम की सख्त जरूरत है।

संयुक्त राष्ट्र मिशन के आंकड़ों के अनुसार, जनवरी 2009 से अफगानिस्तान में सशस्त्र संघर्ष में 35,000 से अधिक अफगान नागरिक मारे गए हैं और लगभग 65,000 घायल हुए हैं।

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -spot_img