27 C
Ranchi
Thursday, April 15, 2021
- Advertisement -

कुछ सुधारों की जरूरत, मगर संसद में चर्चा होना चाहिए थी: हुड्डा

- Advertisement -

नई दिल्ली: भारत बंद के बीच, जिसे कांग्रेस और लगभग समूचे विपक्ष का समर्थन मिल रहा है, हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मंगलवार को कहा कि वह सहमत हैं कि कुछ सुधारों की जरूरत थी, जिन पर पहले संसद में चर्चा की जानी चाहिए थी।

हालांकि उन्होंने कहा कि मौजूदा कृषि कानूनों को वापस लिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा, केंद्र को इन कृषि कानूनों को वापस लेना चाहिए और यह सरकार के लिए कार्रवाई का समय है।

नई दिल्ली स्थित कांग्रेस मुख्यालय में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए हुड्डा ने कहा, मैं मानता हूं कि कुछ सुधारों की जरूरत है, लेकिन सरकार द्वारा पारित किए गए अधिनियमों में किसी सुधार का कोई संकेत नहीं मिलता।

अगर सरकार अपना सुधार चाहती है।

आप तत्काल संसद का सत्र बुलाकर चर्चा करें कि क्या सुधार लाना चाहते हैं।

हुड्डा ने कहा कि किसान ऐसे किसी भी निर्णय और कानूनों का स्वागत करेंगे, जो उनके हित में हो।

उन्होंने यह भी कहा, हम विरोध प्रदर्शन का समर्थन कर रहे हैं, क्योंकि ये उनकी वास्तविक मांग है। हम इस आंदोलन का नेतृत्व नहीं कर रहे हैं।

उन्होंने मांग की कि भाजपा नेताओं को किसानों के विरोध को चीन, पाकिस्तान और अन्य से जोड़ने के लिए माफी मांगनी चाहिए।

कांग्रेस किसान आंदोलन और देशव्यापी हड़ताल का समर्थन कर रही है।

मंगलवार को कृषि मंत्री ने एक बार फिर एमएसपी को लेकर सरकार का रुख स्पष्ट किया।

केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने किसानों से प्रचारित किए जा रहे प्रोपेगेंडा से बचने का आग्रह किया। उन्होंने उन्हें आश्वासन दिया कि एमएसपी और मंडियां जारी रहेंगी।

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -spot_img