34 C
Ranchi
Thursday, April 15, 2021
- Advertisement -

काफिले पर हमले के बाद नड्डा बोले- बंगाल में अराजकता, मां दुर्गा के आशीर्वाद से जान बची

- Advertisement -

कोलकाता: मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के भतीजे सांसद अभिषेक बनर्जी के संसदीय क्षेत्र डायमंड हार्बर में तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) कार्यकर्ताओं द्वारा काफिले पर किए गए पथराव में बाल-बाल बचे भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा ने राज्य सरकार पर निशाना साधा है।

उन्होंने कहा है, “बंगाल में अराजकता चल रही है, असहिष्णुता चल रही है। मां दुर्गा के आशीर्वाद से जान बची है।

टीएमसी समर्थक असामाजिक तत्वों ने मुझे मारने की अपनी एक भी कोशिश बाकी नहीं रखी थी।”

दरअसल गुरुवार को जेपी नड्डा जब डायमंड हार्बर के शिराकोल में जनसभा को संबोधित करने के लिए जा रहे थे तब रास्ते में सत्तारूढ़ टीएमसी के लोगों ने उनके काफिले पर जमकर पथराव किया।

इसमें न केवल नड्डा की गाड़ी चपेट में आई बल्कि कैलाश विजयवर्गीय, दिलीप घोष, मुकुल रॉय, शिव प्रकाश, संबित पात्रा समेत अन्य शीर्ष नेताओं की गाड़ियों पर भी पथराव किए गए।

जैसे तैसे जेपी नड्डा कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे। वहां संबोधन के दौरान उन्होंने उक्त बातें कही हैं।

जेपी नड्डा ने कहा, “यह तय है कि पश्चिम बंगाल से ममता बनर्जी की सरकार जाएगी और राज्य में कमल खिलेगा।

यहां जंगलराज चल रहा है। मैं ऐसा कह रहा हूं तो इसका कारण है। कैलाश विजयवर्गीय और राहुल सिन्हा की गाड़ी की हालत देख लीजिए। बुरी तरह से टूट गई है।

हम लोग बुलेट प्रूफ गाड़ी में थे इसलिए बच गए। यहां गुंडाराज चल रहा है। बंगाल में लोकतंत्र की स्थापना करनी होगी।

इनकी मानसिकता विपक्ष को खत्म करने की है। इसलिए बंगाल के लोगों का आशीर्वाद मांगने यहां आया हूं।”

नड्डा ने कहा कि बंगाल के लोग संस्कृति और सभ्यता के लिए जाने जाते थे लेकिन ममता बनर्जी जो कर रही हैं उससे बंगाल का सम्मान गिरता जा रहा है।

इसे “सोनार बांग्ला” बनाना ही होगा। रवींद्रनाथ टैगोर ने हमें अच्छी राह दिखाई थी। बंगाल सभ्यता की जननी है।

जिस तरह से ममता शासन में इसका पतन हो रहा है उसे सुधारना होगा। मुकुल रॉय को देखिए, कितना घायल हुए हैं।

अभिषेक संसद नहीं जाते

मुख्यमंत्री ममता के भतीजे अभिषेक बनर्जी पर हमला बोलते हुए नड्डा ने कहा कि यहां से जो सांसद हैं वह संसद में नजर नहीं आते।

पुलिस का राजनीतिकरण कर चुके हैं। यह शर्मनाक है। बंगाल में कोई प्रशासन ही नहीं बचा है। प्रशासनिक व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। अगर केंद्रीय बलों की सुरक्षा ना मिले तो बंगाल में कोई घूम फिर नहीं सकता।

चक्रवात पीड़ितों की मदद राशि में भी लूट

इस दौरान अमन चक्रवात से पीड़ितों के लिए केंद्र सरकार से मिली राशि गबन करने का आरोप सत्तारूढ़ पार्टी पर लगाते हुए नड्डा ने बड़ा दावा किया।

उन्होंने कहा कि चक्रवात पीड़ितों की मदद के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1000 करोड़ रुपये की आर्थिक मदद दी थी, लेकिन सारे रुपये गबन कर गए।

हाईकोर्ट ने ऑडिट करने को कहा है तो इसे टालने के लिए ममता बनर्जी सुप्रीम कोर्ट चली गई हैं क्योंकि वह डर रही हैं।

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -spot_img