30 C
Ranchi
Friday, April 16, 2021
- Advertisement -

झारखंड पुलिस की कार्रवाई से बौखलाये माओवादियों ने इलाके में पोस्टरबाजी कर पुलिस को दी चुनौती

- Advertisement -

न्यूज़ अरोमा खूंटी: प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादी के कई बड़े गुर्गों की गिरफ्तारी और नक्सलियों के खिलाफ पुलिस की लगातार कार्रवाई से बौखलाये माओवादियों ने नक्सल प्रभावित सायको थाना क्षेत्र में पोस्टरबाजी कर अपनी उपस्थिति दर्ज कराने का प्रयास किया।

जिस गांव के ग्रामीणों ने माओवादियों का बहिष्कार किया है, उन्हीं गांवों में माओवादियों ने पोस्टरबाजी की है।

इससे ग्रामीणों में दहशत व्याप्त है।

जिले के सायको थाना क्षेत्र में भाकपा माओवादियों ने बैनर पोस्टर चिपका कर एक बार फिर पुलिस को चुनौती देते हुए दहशत फैलाने का काम किया है।

नक्सलियों ने चिपकाये गये पोस्टर के माध्यम से खूंटी पुलिस को खुली चुनौती दी है कि क्षेत्र से पुलिस कैंप हटाओ, नहीं तो अंजाम भुगतने के लिए तैयार रहो।

माओवादियों ने चुनौती देते हुए बैनर पोस्टर में मुंडारी भाषा में पुलिस से सीधे लड़ाई लड़ने की बात कही है।

पत्थलगड़ी इलाकों में पोस्टरबाजी

प्रतिबंधित नक्सली संगठन भाकपा माओवादियों ने इस बार विवादित पत्थलगड़ी इलाकों में जमकर पोस्टरबाजी की है।

कई जगहों पर उन पत्थरों में पंपलेट चिपकाया है, जहां पहले पत्थलगड़ी कर पूजा की जाती थी।

बैनर पोस्टर में मुंडारी भाषा में लिखे संदेश में कहा कि कन्हाई चटर्जी अमर रहे, पीएलजीए का 20 हिस्सा जमीन भाकपा माओवादियों का है, जिसमें नयी सेना की भर्ती होगी।

दुश्मन पुलिस अड़चन डाल रही है।

हमारी 20 हिस्सा जमीन खाली करो। मिशन समाधान के नाम पर माओवादियों ने कहा लड़ाई जल्द खत्म करोए पुलिस कैंप जल्द हटाओए नहीं हटाने पर अंजाम भुगतने को तैयार रहो। पीएलजीए युद्ध को तैयार है।

महिलाओं के साथ कोई भी अत्याचार या शोषणए मारपीट करेगा, उसे फांसी की सजा भाकपा माओवादी देंगे।

पुलिस ने बैनर पोस्टर किया जब्त

नक्सली संगठन पीएलएफआई हो या भाकपा माओवादी दोनों संगठनों के खिलाफ खूंटी पुलिस की कार्रवाई से दोनों संगठनों में खौफ है।

हाल के कुछ दिनों में नक्सलियों के बड़े कैडर को गिरफ्तार किया है, जबकि कई बड़े नक्सली पुलिस के सामने घुटने टेक चुके हैं।

एक माह पहले बोयदा पाहन अपने दस्ते के सदस्यों के साथ रांची पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया, जबकि नक्सलियों के ही बड़े कैडर के कई सदस्यों को पुलिस ने हथियारों के साथ पकड़ा है।

इसके कारण नक्सलियों को बड़ा झटका लगा है।

पुलिस कार्रवाई से नक्सलियों का दबदबा इलाके से खत्म हो गया है।

इसके कारण नक्सली खौफ पैदा करने के लिए बैनर पोस्टर लगाकर अपनी उपस्थिति दर्ज कराना चाहते हैं।

इधर, खूंटी पुलिस ने सभी बैनर पोस्टर जब्त कर लिये हैं।

पुलिस ने दावा किया कि जल्द ही बैनर पोस्टर लगाने वालों को गिरफ्तार किया जायेगा।

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -spot_img