36 C
Ranchi
Wednesday, April 14, 2021
- Advertisement -

पारा शिक्षकों में बढ़ा आक्रोश, इस दिन बुलाई बैठक ; बोले- आश्वासनों से अब नहीं चलेगा काम

- Advertisement -

न्यूज़ अरोमा रांची: अब आश्वासन से नहीं चलेगा काम, वायदे को धरातल पर उतारे सरकार। यह बातें एकीकृत पारा शिक्षक संघर्ष मोर्चा ने कही है।

मोर्चा का कहना है कि राज्य सरकार अपने कार्यकाल का एक वर्ष पूरा करने जा रही है। इसके बावजूद सरकार बनने के तीन माह में पारा शिक्षकों को स्थायी कर वेतनमान देने का वायदा पूरा नहीं हुआ है।

ऐसे में मोर्चा ने 20 दिसंबर को राज्य इकाई की बैठक रांची के मोरहाबादी में करके आंदोलन की रणनीति को अंतिम रूप देने का मन बनाया है।

काम के बावजूद डेढ़ साल से मानदेय नहीं

मोर्चा ने कहा है कि पारा शिक्षकों के स्थायीकरण, वेतनमान की प्रस्तावित नियमावली पर विभागीय अधिकारी कुंडली मारकर बैठे हैं और सरकार राज्य के पारा शिक्षकों को झूठे आश्वासनों की घूंटी पिला रही है।

अप्रशिक्षित/एनसी अंकित पारा शिक्षकों को काम करने के बावजूद डेढ़ वर्षों से मानदेय का भुगतान नहीं किया जा रहा है।

ऐसे में राज्य के पारा शिक्षकों का आक्रोश बढ़ रहा है। रोज पारा शिक्षक काल के गाल में समा रहे हैं, आश्रित दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर हैं।

9 जून की बैठक के निर्णय पर अमल करे सरकार

एकीकृत मोर्चा सूबे के मुख्यमंत्री सह शिक्षा मंत्री से मांग करती है कि 9 जून को सम्पन्न उच्चस्तरीय कमेटी की बैठक में लिए गए निर्णय एवं मोर्चा के प्रतिनिधियों द्वारा दिए गए सुझाव के आधार पर अविलंब नियमावली को कैबिनेट से पारित कराएं एवं अप्रशिक्षित/एनसी अंकित पारा शिक्षकों के डेढ़ वर्ष से बकाया मानदेय का भुगतान कराएं।

बैठक में राज्य इकाई के सभी सदस्यगण, सभी जिलाध्यक्ष, जिला सचिव शामिल होंगे। मौके पर मोर्चा के बिनोद बिहारी महतो, संजय कुमार दुबे, हृषिकेश पाठक, प्रमोद कुमार, नरोत्तम सिंह मुंडा, दशरथ ठाकुर, मोहन मंडल, प्रद्युम्न कुमार सिंह (सिंटू) मौजूद थे।

अप्रशिक्षित पारा शिक्षक संघ ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मुलाकात की थी मुलाक़ात

इधर सोमवार को अप्रशिक्षित पारा शिक्षक संघ के प्रतिनिधिमंडल ने झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन से मुलाकात की थी।

प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व झारखंड के अप्रशिक्षित पारा शिक्षक संघ के संयोजक ऋषिकांत तिवारी कर रहे थे।

उनके नेतृत्व में झारखंड के तमाम जिलों से पारा शिक्षकों के डेलीगेशन ने सीएम से मुलाकात की। अप्रशिक्षित पारा शिक्षकों के मानदेय का पत्र जारी हुए 2 महीना हो गया।

इस संबंध में मुख्यमंत्री को विस्तार पूर्वक बताया गया। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि सारे जिलाें से सूची मंगाई गई है और मैं इसे त्वरित कार्रवाई करते हुए पता करता हूं। आप लोगों काे मानदेय मिलेगा।

सीएम का जताया था आभार

इसके लिए सभी लोगों ने मुख्यमंत्री के प्रति आभार जताया। उनको धन्यवाद दिया और सारे लोगों ने कहा कि हम लोगों को मुख्यमंत्रीजी पर विश्वास है वही हम लोगों को प्रावधान दिए हैं और वही हम लोगों की जिंदगी बचाएंगे और हम लोगों का जरूर कल्याण होगा।

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -spot_img