35 C
Ranchi
Sunday, April 18, 2021
- Advertisement -

पीयूष गोयल ने बेहतर FDI का हवाला देते हुए विदेशी निवेशकों को आमंत्रित किया

- Advertisement -

नई दिल्ली: केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने भारत की अर्थव्यवस्था में विदेशी निवेशकों की भागीदारी को आमंत्रित करते हुए, मंगलवार को कहा कि अप्रैल-सितंबर की अवधि में देश को 40 अरब डॉलर की एफडीआई प्राप्त हुई है।

सीआईआई के पार्टनरशिप समिट 2020 के उद्घाटन सत्र को वर्चुअल तरीके से संबोधित करते हुए रेल, वाणिज्य एवं उद्योग और उपभोक्ता मामले एवं खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री गोयल ने विदेशी निवेशकों को भारत की विकास गाथा का हिस्सा बनने के लिए आमंत्रित किया।

भारत में विदेशी निवेशकों का स्वागत करते हुए मंत्री ने कहा कि भारतीय अर्थव्यवस्था लगातार सुधार की राह पर है और बाजारों को वैश्विक निवेशकों के लिए खोला जा रहा है।

उन्होंने कहा कि भारत में एफडीआई (प्रत्यक्ष विदेशी निवेश) का प्रवाह लगातार बढ़ रहा है। उन्होंने कहा, इस वर्ष के पहले नौ महीनों के दौरान, जब कोविड-19 महामारी चरम पर थी, तब हमारी एफडीआई में वृद्धि हुई। हमारे पास दुनिया में सबसे अधिक सुविधाजनक एफडीआई नीतियों में से एक है।

ये भी पढ़ें : -  कोडरमा सांसद अन्नपूर्णा देवी हुई कोरोना पॉजिटिव
ये भी पढ़ें : -  कोडरमा सांसद अन्नपूर्णा देवी हुई कोरोना पॉजिटिव

 अप्रैल-सितंबर की अवधि के दौरान एफडीआई प्रवाह 40 अरब डॉलर रहा है, जो पिछले साल की तुलना में लगभग 13 प्रतिशत अधिक है।

गोयल ने कहा कि पिछले साल हमने दुनिया में उपलब्ध सबसे आकर्षक कर दरों में से एक की घोषणा की। उन्होंने कहा कि दुनिया में कंपनी कर की दर सबसे कम 22 प्रतिशत भारत में ही है। इसके अलावा देश में अक्टूबर 2019 के बाद विनिर्माण संयंत्र लगाने वाली कंपनियों के लिए यह दर 15 प्रतिशत है।

इसके अलावा, गोयल ने कहा कि भारत में आने के लिए उद्योगों को आकर्षित करने के लिए उत्पादन-लिंक्ड प्रोत्साहन (प्रोडक्शन लिंक्ड इन्सेंटिव) योजना सहित कई नई योजनाएं शुरू की गई हैं।

ये भी पढ़ें : -  झारखंड : फायरिंग कर शहर में दहशत फैलाने वाले चार अपराधी गिरफ्तार

केंद्रीय मंत्री ने कहा, केंद्र सरकार और राज्य महामारी की शुरूआत से पहले भी निवेश को आकर्षित करने और बढ़ावा देने के लिए मिलकर काम कर रहे हैं। भारत तेजी से अर्थव्यवस्था और उत्पादकता के स्तर में सुधार के उद्देश्य से सुधार उपायों की घोषणा कर रहा है।

भारत हमारी वी-आकार की रिकवरी (तेजी से होता सुधार) में अधिक से अधिक वैश्विक भागीदारी को प्रोत्साहित करने के लिए अनुकूल सुधार और सुविधा उपायों की शुरूआत कर रहा है।

ये भी पढ़ें : -  रिम्स सहित कई अस्पतालों में हुई ऑक्सीजन की सप्लाई

मैं आपको विकास, वृद्धि और समृद्धि की बस में सवार होने के लिए आमंत्रित करता हूं, जो प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी भारत के लोगों के लिए तैयार कर रहे हैं।

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -spot_img