30 C
Ranchi
Friday, April 16, 2021
- Advertisement -

भारत-बांग्लादेश के बीच 55 साल बाद चिल्हाटी-हल्दीबाड़ी रेल लाइन शुरू

- Advertisement -

नई दिल्ली: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और बांग्लादेश की प्रधानमंत्री शेख हसीना ने गुरुवार को संयुक्त रूप से दोनों देशों के बीच चिलाहटी-हल्दीबाड़ी रेल लिंक का उद्घाटन किया। यह रेल लाइन 55 साल पहले बंद हो गई थी।

इस रेल मार्ग के साथ ही अब 1965 से पहले के छह में से पांच रेल लिंक बहाल हो गये हैं।

भारत और बांग्लादेश के बीच आयोजित द्विपक्षीय वर्चुअल शिखर सम्मेलन में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और उनकी समकक्ष शेख हसीना ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए दोनों देशों के बीच चिल्हाटी-हल्दीबाड़ी रेल लिंक का शुभारंभ किया।

अंतरराष्ट्रीय सीमा से हल्दीबाड़ी रेलवे स्टेशन 4.5 किमी जबकि, चिल्हाटी से 7.5 किमी दूरी पर स्थित है।

सम्मेलन के दौरान भारत और बांग्लादेश ने 1965 से पहले के छह रेल मार्गों को फिर से पुनर्जीवित कर शुरू करने की प्रतिबद्धता व्यक्त की।

पश्चिम बंगाल को बांग्लादेश से जोड़ने वाले अन्य चार रेलमार्ग लिंक पेट्रापोल (भारत) – बेनापोल (बांग्लादेश), गेदे (भारत) – दर्शन (बांग्लादेश), सिंघाबाद (भारत) -रोहनापुर (बांग्लादेश) और राधिकापुर (भारत) -बीरोल (बांग्लादेश) हैं।

रेलवे के अनुसार नया रेल लिंक क्षेत्रीय व्यापार में वृद्धि को बढ़ावा देगा और क्षेत्र के आर्थिक और सामाजिक विकास को प्रोत्साहित करने के लिए मुख्य बंदरगाहों और रेल नेटवर्क की पहुंच को बढ़ाएगा।

इससे दोनों देशों के बीच व्यापार में वृद्धि होगी।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि स्वास्थ्य के अलावा अन्य क्षेत्रों में भी हमारी विशेष साझेदारी निरंतर आगे बढ़ती रही है।

लैंड बॉर्डर ट्रैड में बाधाओं को हमने कम किया, दोनों देशों के बीच कनेक्टिविटी का विस्तार किया, ये सब हमारे संबंधों को और अधिक मजबूत करने के हमारे इरादों को दर्शाता है।

उन्होंने कहा कि वैश्विक महामारी के कारण ये वर्ष चुनौतीपूर्ण रहा है लेकिन संतोष का विषय है कि भारत और बांग्लादेश के बीच अच्छा सहयोग रहा है। वैक्सीन के क्षेत्र में भी हमारे बीच अच्छा सहयोग चल रहा है।

इस सिलसिले में हम आपकी आवश्यकताओं का भी विशेष ध्यान रखेंगे।

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -spot_img