36 C
Ranchi
Wednesday, April 14, 2021
- Advertisement -

भभुआ में नक्सली कमांडर ने हथियारों के साथ किया सरेंडर

- Advertisement -

भभुआ: कैमूर पहाड़ी में सक्रिय नक्सली एरिया कमांडर बीरेन्द्र यादव उर्फ भोरिक यादव उर्फ संतोष यादव ने हथियारों के साथ गुरुवार को पुलिस अधीक्षक दिलनवाज अहमद के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया।

एरिया कमांडर रोहतास जिले के नौहट्टा थाना क्षेत्र के बुधवा गांव का रहनेवाला है। वह फिलहाल रोहतास जिले के ही चेनारी थाना के नन्दु सियरा गांव में रहता था।

नक्सली एरिया कमाण्डर ने 12 बोर की चार बंदूक व पांच गोली, 315 बोर की तीन राइफल व एक जिन्दा गोली, पांच सेट हरे रंग की नक्सली वर्दी, दो पैंट, काले रंग का नक्सल चार गमछा, चार देसी बिंडोलिया, काले रंग की एक कंपनी की तीन बिंडोलिया, फ्लूथू दो, बंदूक का तेल पांच ग्राम, नक्सली संगठन की सदस्यता की रसीद दो बंडल पुलिस अधीक्षक को सौंपा।

एसपी दिलनवाज अहमद ने बताया कि कुछ दिनों से लगातार सूचना मिल रही थी कि अधौरा थाना क्षेत्र में कुछ नक्सलियों के साथ बीरेंद्र रोहतास व कैमूर जिले में सक्रिय है।

इसपर कई लोगों व ठेकेदारों से नक्सली संगठन के नाम पर रंगदारी, लेवी वसूलने की सूचना प्राप्त हो रही थी।

पुलिस की लगातार छापेमारी और अपने रिश्तेदार के समझाने पर नक्सली सरेंडर नीति के तहत उसने उक्त् सामान के साथ समर्पण कर दिया।

एसपी ने बताया कि सरकार के पास पुनर्वास का प्रस्ताव भेजा जा रहा है।

नक्सली बीरेन्द्र यादव पूर्व में एमसीसी एवं टीपीसी दस्ता के एरिया कमाण्डर के रुप में कैमूर पहाड़ी क्षेत्र में सक्रिय था।

हाल में जमानत पर जेल से निकलने के बाद इस पर दो कांड दर्ज किया जा चुका है।

वर्तमान में यह नक्सली कैमूर पहाड़ी क्षेत्र के आसपास में अपने दस्ता के साथ सक्रिय रहकर रोहतास जिले में लेवी की मांग किया करता था।

इस पर हत्या समेत आठ आपराधिक मामले रोहतास व कैमूर में दर्ज हैं, जिसमें हाल में रोहतास जिले में दो नक्सली कांडों में यह फरार है।

एसपी ने बताया कि बीरेंद्र के सरेंडर करने में एएसपी नीतीन कुमार, पुअनि संतोष कुमार, पुअनि नदीम, संजय कुमार सिंह, आमोद कुमार, डीआईयू टीम एवं दंगा नियंत्रण बल के जवानों की सक्रिय भूमिका रही।

- Advertisement -

Latest news

- Advertisement -

Related news

- Advertisement -spot_img