पारा शिक्षक संघ ने उठाई आवाज, कहा- हमें मिले सरकारी कर्मचारियों वाली सारी सुविधाएं वरना कार्यमुक्त किया जाए

रामगढ़: एकीकृत पारा शिक्षक संघ के उतरी छोटानागपुर प्रमंडल अध्यक्ष भागवत तिवारी ने कोविड-19 कार्य में प्रतिनियुक्त पारा शिक्षकों के हक में अपनी आवाज बुलंद की है।

उन्होंने अपने ही पंचायत टोला में ड्यूटी लगाने की मांग की है।

साथ ही तमाम सुविधाएं देने की मांग की है वरना कार्यमुक्त किए जाने की भी मांग की है।

इस संबंध में उन्होंने बताया कि बीडीओ ने उचित कदम उठाने का आश्वासन दिया है।

कई गंवा चुके हैं जान

भागवत तिवारी ने कहा है कि गोला प्रखंड क्षेत्र के दर्जनों पारा शिक्षकों को कोविड-19 ड्यूटी में लगाया गया है।

Jharkhand Teacher Salary; Jharkhand Para Teacher Salary Scale Proposal  Prepared News Updates On Para Teachers News | पारा शिक्षकों को वेतनमान देने  का प्रस्ताव तैयार, नए मंत्री का इंतजार - Dainik ...

कार्यरत कई पारा शिक्षक अपनी जान गवां चुके हैं। सरकार उन्हें कोई सुविधा भी नहीं दे रही है।

मृतक पारा शिक्षकों के अश्रित को पारा शिक्षक के पद पर भी नहीं रखा जाता है।

ऐसी स्थिति में पारा शिक्षक को कोविड ड्यूटी में नहीं लगाना चाहिए।

उन्होंने मांग की है कि अगर पारा शिक्षकों को कोरोना ड्यूटी पर लगाया जा रहा है तो उन्हें भी सरकारी कर्मचारियों की तरह सुविधाएं व नौकरी दी जाए।

केवल मानदेय भुगतान से नहीं चलेगा काम

उन्होंने कहा कि पारा शिक्षकों को प्रतिमाह महज बारह से 14 हजार रुपए मानदेय दिया जाता है।

इतने कम मानदेय में उनसे हर तरह काक कार्य कराया जाता है और कोई सुविधा नहीं दी जाती है।

उन्होंने कोविड में प्रतिनियुक्त पारा शिक्षकों को हर तरह की सुविधा उपलब्ध करने की मांग करते हुए कहा कि अगर सरकार उन्हें सुविधाएं नहीं देती है, तो पारा शिक्षकों को कोविड कार्य से मुक्त किया जाए।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button