… और इस तरह बाबा रामदेव ने एक बार फिर मांगी सार्वजनिक रूप से माफी, कहा…

Digital Desk

Baba Ramdev Apology : Supreme Court की जोरदार फटकार के बाद बुधवार को योग गुरु बाबा रामदेव (Baba Ramdev) ने एक बार फिर सार्वजनिक रूप से माफी मांग ली है।

उन्होंने Patanjali आयुर्वेद से जुड़े भ्रामक विज्ञापनों (Misleading Advertisements) को लेकर लिखा कि वे दोबारा माफी मांग रहे हैं।

बता दें कि यह पहली बार नहीं है, जब Patanjali की तरफ से माफी मांगी गई है।

मंगलवार को भी इस तरह का माफीनामा सामने आया था, लेकिन Supreme Court ने इसपर आपत्ति जता दी थी। उसके बाद उन्होंने दोबारा माफी मांगी है।

‘बगैर शर्त सार्वजनिक माफी’

‘बगैर शर्त सार्वजनिक माफी’ के शीर्षक के साथ ताजा प्रकाशित माफी में पतंजलि आयुर्वेद की तरफ से कहा गया है, ‘माननीय शीर्ष न्यायालय में चल रहे मामले (रिट याचिका 645/2022) के मद्देनजर हम भारत के माननीय उच्चतम न्यायालय के निर्देशों/आदेशों की अवज्ञा या पालन नहीं करने के चलते व्यक्तिगत रूप के साथ-साथ कंपनी की ओर से सार्वजनिक रूप से माफी मांगते हैं।’

आगे कहा गया, ’22 नवंबर 2023 को प्रेस कॉन्फ्रेंस/मीटिंग के लिए हम बगैर शर्त माफी मांगते हैं।

विज्ञापनों (Advertisements) को प्रकाशित करने में हुई गलती के लिए हम माफी मांगते हैं और वादा करते हैं कि ऐसी गलतियां दोबारा नहीं होंगी।

हम माननीय अदालत के निर्देशों और आदेशों के ध्यान और गंभीरता के साथ पालन करने का वचन देते हैं।

क्या माफीनामे को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया था?

हम न्यायालय की गरिमा की बनाए रखने और माननीय न्यायालय/अथॉरिटी के निर्देशों और कानूनों का पालन करने का वादा करते हैं।’

खास बात है कि एक दिन पहले ही प्रकाशित हुए विज्ञापन में बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण का नाम शामिल नहीं था।

तब सुनवाई के दौरान जस्टिस हिमा कोहली और जस्टिस ए अमानुल्लाह की बेंच ने सवाल किया था कि क्या माफीनामा को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया था।

जस्टिस कोहली ने पूछा, ‘क्या माफीनामे को प्रमुखता से प्रकाशित किया गया था? क्या इसके फॉन्ट और साइज आपके पुराने विज्ञापनों की तरह थे।’

इस मामले की अगली सुनवाई 30 अप्रैल को होगी। तब बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण को व्यक्तिगत तौर पर अदालत में पेश होने के लिए कहा गया है।

हमें Follow करें!