प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी लोकतंत्र का उड़ा रहे हैं मखौल, JMM प्रवक्ता सुप्रियो ने…

News Aroma Desk

JMM Supriyo Bhattacharya Targeted BJP: झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के महासचिव सह प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य Supriyo Bhattacharyaलेवी वसूली के लिए JJMP उग्रवादियों ने शुरू की पोस्टरबाजी, फौजी कार्रवाई की…) ने BJP और केंद्र की मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा।

Supriyo ने कहा कि उन्हें 2024 में बिना चुनाव लड़े और चुनाव जीते ही विदेशों से आमंत्रण मिल रहे हैं यह बयान बहुत ही हास्यापद है। प्रधानमंत्री लोकतंत्र का मखौल उड़ा रहे हैं। मोदी के इस दावे के पीछे की सच्चाई कुछ और ही ह।

Election Commission तो केवल चुनाव की तिथि घोषित करेगी, मगर चुनाव तो असल में इंफोर्समेंट डिपार्टमेंट (ED) कराएगा, जिसकी पटकथा पिछले दो सालों से लिखी जा रही है। झारखंड सहित कई राज्य इसके उदाहरण हैं, जो BJP कांग्रेस मुक्त भारत बनाने का नारा देते रही दरसअल वह कांग्रेस युक्त BJP बन कर रही गयी।

उन्होंने कहा कि देश में 740 सांसद-विधायक ऐसे हैं जो कांग्रेस अन्य क्षेत्रीय दलों से गए। उन्होंने कहा कि मोदी जी को भले ही बिना चुनाव लड़े विदशों से आमंत्रण मिल रहा हो, मगर हमारे हेमंत जी को पूरे देश के आदिवासी, युवा, पिछड़े, अल्पसंख्यक बुला रहे हैं। बहुत जल्द हेमंत भी पूरे देश में जाएंगे। सुप्रियो भट्टाचार्य सोमवार को पार्टी कार्यालय में आयोजित प्रेस वार्ता में बोल रहे थे।

भट्टाचार्य ने कहा कि विगत दस साल के शासन में मोदी जी ने कई चीजों की परिभाषा बदल डाली। 2014 में मोदी जी ने कहा कि हमारे आने के बाद देश में बहुत कुछ नया होगा। देश बदल जाएगा. 2019 में कहा था कि क्या खाना, क्या नहीं खाना है। क्या पहनना है, क्या नहीं पहनना है। क्या पढ़ना है, क्या नहीं पढ़ना है। क्या सुनना है क्या नही सुनना है।

विपक्ष मतलब भ्रष्टाचारी और जो BJP में है सदाचारी, जो शासन के हां में हां मिलाए वह राष्ट्रवादी, जो शासन का विरोध करे वह देशद्रोही, जो BJP के साथ चल जाए और उप मुख्यमंत्री, मंत्री और जो उनके साथ न जाए उसकी जगह जेल।

भट्टाचार्य ने कहा कि देश में दूसरा किसान आंदोलन शुरू हो चुका है। किसानों को नजरबंद कर दिया गया है।किसान सरकार से MACP मांगते हैं तो सरकार उन्हें इनोवेशन एग्रीकल्चर का प्रस्ताव देती है। यानी कि किसान धान, मक्का और गेंहू की खेती नहीं अडाणी और अंबानी के लिए दाल और कपास की खेती करें। यानी जनता कपास खाए और दाल पीये। अजीब स्थिति इस देश में पैदा की जा रही है

झारखंड को लेकर सीट शेयरिंग पर बन गयी है सहमति

सुप्रियो भट्टाचार्य एक सवाल के जवाब में कहा कि झारखंड को लेकर लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) के सीट शेयरिंग पर सहमति बन चुकी है, जो फॉर्मूला रखा गया था, उस पर सहमति बन गयी है।

जल्द सीट और संभावित प्रत्याशियों का एलान कर दिया जाएगा। उन्होंने कहा कि बस बिहार और उड़ीसा में थोड़ा पेंच फंसा है, जिसे जल्द ही सुलझा लिया जाएगा।

हमें Follow करें!

x