पहाड़ी इलाकों के मौसम में बदलाव का झारखंड में भी पड़ेगा असर, बढ़ेगी ठंड

झारखंड में दो दिन बाद बढ़ेगी ठंड

रांची: झारखंड में 12 दिसम्बर के बाद से ठंड बढ़ेगी और विभिन्न जिले में अभी चल रहे न्यूनतम तापमान में आने वाले 24 घंटे में दो से चार डिग्री सेल्सियस की गिरावट आएगी।

मौसम में हो रहे बदलाव के बीच पश्चिमी विक्षोभ के प्रभाव से हिमालयी क्षेत्र में आने वाले दिन में बारिश और बर्फबारी संभव है। वहां बारिश और बर्फबारी के बाद सर्द हवा का बहाव झारखंड की ओर शुरू होगा।

इसके बाद यहां कनकनी बढ़ेगी और आमजन दिन में भी ठंड महसूस करेंगे। मौसम वैज्ञानिक अभिषेक आनंद ने शुक्रवार को बताया कि पश्चिमी विक्षोभ के कारण पहाड़ी इलाकों के मौसम में बदलाव का असर झारखंड में भी पड़ेगा।

रांची का न्यूनतम तापमान 14.3 डिग्री सेल्सियस और अधिकतम तापमान 24.6 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया है। वहीं सबसे अधिक अधिकतम तापमान 30 डिग्री सेल्सियस गोड्डा का और सबसे कम न्यूनतम तापमान 13.2 डिग्री सेल्सियस रामगढ़ का दर्ज किया गया है।

अभिषेक आनंद ने बताया कि फिलहा जो हवाएं चल रही है इसं पूरबा हवा का भी अंश है। इसी के प्रभाव से अभी आसमान में आंशिक बादल छाए हुए हैं और तापमान में कमी नहीं हुई है।

उन्होंने बताया कि आने वाले तीन- चार दिनों में उत्तर दिशा से हवा का बहाव शुरू हो जाएगा इससे दिन में ठंड और रात में ठिठुरन बढ़ेगी।

राज्य के कई इलाके में सुबह में कोहरा का प्रभाव दिखने लगा है। इससे जीटी रोड और राष्ट्रीय राजमार्ग पर सुबह में वाहनों की आवाजाही पर असर पड़ रहा है।

घने कोहरा के कारण सुबह में आठ बजे तक ऐसे इलाके से होकर वाहनों का आवागमन प्रभावित हो रहा है। बारिश थमने, आसमान से बादल छंटने के बाद राज्य के नमी, वन और जलीय क्षेत्र समेत खुले स्थान वाले इलाके में सुबह में कोहरा बढ़ गया है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button