लाठी और फर्जी मुकदमों के बल पर आवाज दबाना चाहती है हेमन्त सरकार: दीपक प्रकाश

रांची: भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष एवं सांसद दीपक प्रकाश ने हेमन्त सरकार पर दमनकारी नीति लागू करने का आरोप लगाते हुए कहा कि हेमन्त सरकार लाठी और फर्जी मुकदमों के बल पर जनता की आवाज दबाना चाहती है।

प्रदेश की जनता हेमन्त सरकार से त्रस्त है। जेपीएससी मुद्दे पर हुए लाठी चार्ज को लेकर प्रकाश ने गुरूवार को कहा कि झारखंड की भ्रष्ट हेमंत सरकार ने एक बार फिर लाठी और फ़र्ज़ी मुकदमों के बल पर युवाओं की आवाज को कुचलने का प्रयास किया है, जिसकी हम निंदा करते हैं।

उन्होंने कहा कि आखिर युवाओं से सरकार इतना डरी क्यों है। आंदोलन के एक दिन बाद छात्रों और भाजपा नेताओं पर झूठा मुकदमा दर्ज किया गया है।

उन्होंने कहा कि कांग्रेस का इतिहास रहा है लाठी डंडे के बल पर जनता की आवाज को दबाना। इमरजेंसी लगाकर मीडिया की आवाज दबाना हो या किसानों की आवाज या युवाओं की आवाज।

कांग्रेस, झामुमो और राजद की सरकार की कलाई खुल चुका है। जब जब भाजपा ने भ्रष्टाचार, किसानों के मुद्दे, युवाओं के सवाल, महिलाओं की समस्या पर आवाज उठाया है, हेमन्त सरकार ने पार्टी कार्यकर्ताओं पर फर्जी मुकदमे कर आवाज को कुचलने के कार्य किया है।

लेकिन भाजपा के कार्यकर्ता लाठी डंडे गोली से डरने वाले नहीं हैं। प्रदेश की जनता की अकांछाओं पर सड़कों पर आंदोलन जारी रहेगा। हेमन्त सरकार मानवाधिकार का उलंघन कर रही है। इसलिए मानवाधिकार आयोग का गठन नहीं कर रही है।

प्रकाश ने पार्टी कार्यकर्ताओं पर हो रहे मुकदमों को फर्जी करार देते हुए कहा कि कई सरकारी अधिकारी सरकार का टूल्स बनकर कार्य कर रहे हैं।

फर्जी मुकदमे किये जा रहे हैं। विधि सम्मत और न्याय संगत कार्य करना सरकारी अधिकारियों की जिम्मेवारी है। इसके साथ ही प्रधानमंत्री आवास योजना और अम्बेडकर आवास योजना की धीमी गति पर भी विफ़रे और कहा कि सरकार की उदासीनता के कारण गरीबों को समय पर आवास लाभ नहीं मिल रहा है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button