RANCHI : मैट्रिक-इंटर के आवेदन की तारीख बढ़ाए सरकार, वरना होगा महाधरना

26 नवंबर को वित्तरहित संस्थानों में शैक्षणिक हड़ताल रहेगी और 6 दिसंबर को राज्यपाल के समक्ष महाधरना दिया जाएगा

रांचीः मैट्रिक व इंटरमीडिएट के आवेदन करने की बढ़ाएं तारीख वरना महाधरना होगा।

यह मांग वित्तरहित शिक्षा संयुक्त संघर्ष मोर्चा ने राज्य सरकार से की है। साथ ही नौवीं और 11वीं के रजिस्ट्रेशन और संस्थानों को अनुदान के लिए किए जाने वाले आवेदन की भी तारीख बढ़ाने को कहा है।

इस संबंध में मोर्चा ने स्कूली शिक्षा और साक्षरता विभाग के सचिव व माध्यमिक शिक्षा निदेशक को भी ज्ञापन सौंपा है। इसमें कहा गया है कि अगर तारीख नहीं बढ़ाई गई तो 26 नवंबर को वित्तरहित संस्थानों में शैक्षणिक हड़ताल रहेगी और 6 दिसंबर को राज्यपाल के समक्ष महाधरना दिया जाएगा।

क्या है मामला

मोर्चा के रघुनाथ सिंह ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2021-22 के अनुदान ऑनलाइन करने की तिथि 30 नवंबर से बढ़ाकर 15 दिसंबर तक करने की मांग सरकार से की है।

100 से ज्यादा इंटर कॉलेज और स्कूल में शासी निकाय का विधिवत गठन जैक द्वारा नहीं हो सका है। जैक में अध्यक्ष और उपाध्यक्ष का पद दो माह से ज्यादा दिनों से खाली है।

अनुदान के लिए ऑनलाइन फॉर्म भरने में सचिव का नाम, मोबाइल नंबर और आधार नंबर अनिवार्य रूप से देना पड़ता है।

कोरोना के चलते 50 हजार छात्र नहीं भर पाए फॉर्म

कोरोना संक्रमण समेत फेस्टिव सीजन के चलते लगभग 50 हजार छात्र फॉर्म नहीं भर सके हैं। 9वीं और 11वीं के रजिस्ट्रेशन की तिथि 20 दिसंबर तक बिना विलंब दंड के साथ बढ़ाई जाए, क्योंकि 50 से ज्यादा स्थापना अनुमति स्कूल व कॉलेजों की फाइल स्थापना अनुमति पत्र के लिए अध्यक्ष के टेबल पर पड़ी है।

जैक से अनुमोदन के बाद अध्यक्ष के अभाव में पत्र निर्गत नहीं हो रहा है। लगभग एक लाख से ज्यादा छात्र रजिस्ट्रेशन से वंचित हो जाएंगे।

आंदोलन की रणनीति तैयार

डॉ सुरेंद्र झा की अध्यक्षता में हुई मोर्चा की बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि 26 नवंबर को वित्त रहित संस्थाओं में शैक्षणिक हड़ताल रहेगी।

30 नवंबर को मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव को ज्ञापन दिया जाएगा। वहीं 6 दिसंबर को अध्यक्ष की नियुक्ति को लेकर राज्यपाल के सामने महाधरना दिया जाएगा।

बैठक में हरिहर प्रसाद कुशवाहा, देवनाथ सिंह, नरोत्तम सिंह, विजय झा, नरेश घोष, रामेश्वर महतो, जुगल महतो, फजलुर रहमान कादरी और मनीष कुमार उपस्थित थे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button