रांची में हो रहे सेना बहाली में 241 युवाओं का हुआ चयन

रांची: रांची के मोरहाबादी मैदान में गुरुवार को सेना बहाली में 241 युवाओं का डॉक्यूमेंटेशन और मेडिकल के लिए चयन किया गया। सेना बहाली के लिए 2949 युवाओं ने भाग लिया।

मोरहाबादी मैदान में आयोजित सेना बहाली में झारखंड के 24 जिले के योग्य पुरुष उम्मीदवार भाग ले सकते हैं।

बहाली के दौरान जो अभ्यर्थी उत्तीर्ण होंगे वह चिकित्सा जांच एवं लिखित परीक्षा में भाग ले पाएंगे।

सभी अभ्यर्थियों को अधिसूचना में उल्लेखित मूल दस्तावेज एवं एडमिट कार्ड लाना अनिवार्य होगा। अभ्यर्थी भर्ती वर्ष के दौरान केवल एक विशिष्ट श्रेणी में भाग ले सकते हैं।

जाली दस्तावेज देने पर होगी कार्रवाई

अभ्यर्थियों को खासतौर पर सलाह दी गई है कि वह अपनी आयु और शैक्षणिक योग्यता की पुष्टि के बाद ही बहाली में हिस्सा लें। अभ्यर्थी का सेना में चयन बहाली में जमा किए गए दस्तावेजों की जांच के पश्चात ही होगा।

यदि कोई अभ्यर्थी जाली दस्तावेज एडमिट कार्ड के साथ पकड़ा जाता है तो उसे पुलिस को सौंप दिया जाएगा।

सभी अभ्यर्थियों को सूचित किया जाता है कि एडमिट कार्ड पर दिए गए तिथि एवं समय पर ही बहाली में आयें।

दलालों से सावधान रहने का निर्देश

उप महानिदेशक, भर्ती बिहार एवं झारखंड ने कहा है कि सेना बहाली की प्रक्रिया निष्पक्ष पारदर्शी एवं बाहरी प्रभाव से मुक्त है। युवा दलालों से सावधान रहें।

उन्होंने झारखंड के युवकों और मीडिया से दलालों के विरुद्ध मिलकर कार्य करने की अपील की है ताकि राज्य को दलालों के प्रभाव से मुक्त किया जा सके।

उन्होंने कहा कि दलाल भर्ती का झूठा आश्वासन देकर गरीब एवं मासूम युवकों को ठगते हैं, इसने सावधान रहने की जरुरत है।

कोरोना मुक्त और नो रिस्क सर्टिफिकेट पेश करना जरूरी

 सेना बहाली के दौरान अभ्यर्थी को कोविड-19 से संबंधित दिशा निर्देशों का पालन करना अनिवार्य है। सभी अभ्यर्थियों को बहाली के दौरान मास्क दस्ताना एवं सेनेटाइजर आवश्यक रूप से उपयोग करने का निर्देश दिया गया है।

बहाली में भाग लेने के लिए अभ्यर्थी द्वारा कोविड-19 मुक्त अथवा असंक्रमित प्रमाण पत्र जो राज्य (जिला) स्वास्थ्य विभाग द्वारा 48 घंटे पूर्व जारी किया गया हो और नो रिस्क प्रमाण पत्र पेश करना आवश्यक होगा।

प्रमाण पत्र का प्रारूप सेना भर्ती कार्यालय रांची अधिसूचना में उल्लेखित है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button