हेमंत सरकार पूरी तरह किसाना विरोधी: नीलकंठ मुंडा

खूंटी: सरकार द्वारा किसानों से खरीदे गये धान के मूल्य का अब तक भुगतान न होने, कृषि ऋण की माफी सहित किसानों की अन्य मांगों को लेकर भाजपा कार्यकर्ताओं ने शुक्रवार को खेतों में कृषकों के साथ धरना दिया और सरकार विरोधी नारे लगाये।

सभी कार्यकर्ता अपने हाथों में मांगों से संबंधित नारे लिखी तख्तियां लिये हुए थे।

हुटार में खेत में धरना कार्यक्रम को संबोधित करते हुए विधायक नीलकंठ सिंह मुंडा ने कहा कि राज्य की हेमंत सरकार पूरी तरह किसाना विरोधी है।

सरकार ने छह महीने पहले किसानों से धान तो खरीद लिया, लेकिन उसके मूल्य के भुगतान में सरकार आनाकानी कर रही है।

उन्होंने सरकार से मांग की कि किसानों को धान मूल्य का अविलंब भुगतान करे, ताकि किसानों को कृषि कार्य में दिक्कत न हो।

विधायक ने कहा कि सत्ताधारी दलों द्वारा अपने चुनावी घोषणा पत्र में कृषि ऋण को माफ करने की घोषणा की गयी थी, लेकिन किसानों के ऋण अब तक माफ नहीं किये गये।

उन्होंने कहा कि खेतीबारी के दिन आ गये। राज्य में मानसून की बारिश शुरू हो गयी, लेकिन अब किसानों को खाद और बीज नहीं मिले।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए भाजपा किसान मोर्चा के प्रदेश उपाध्यक्ष काशीनाथ महतो ने कहा कि सरकार को किसानों की कोई चिंता नहीं है।

उन्होंने सरकार से मांग की कि किसानों को अविलंब खाद और बीच उपलब्ध कराया जाए।

कार्यक्रम में भाजपा के जिला महामंत्री विनोद नाग, ग्रामीण मंडल अध्यक्ष मदन मोहन गोपए नगर मंडल अध्यक्ष सुरेश जयसवाल, लव चौधरी आदि उपस्थित थे

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button