खूंटी गैंगरेप का मास्टरमांइड गिरफ्तार, लड़कियों को बहला-फुसलाकर गए थे

खूंटी: दो आदिवासी लड़कियों के साथ हुए गैंगरेप मामले के मास्टरमाइंड भरत महतो (24) को पुलिस ने खूंटी बाजार से शुक्रवार को गिरफ्तार कर इस संवेदनशील मामले खुलासा कर लिया।

इस घृणित कांड को अंजाम देने में मुख्य भूमिका निभाने वाले गिरफ्तार आरोपित भरत महतो मुरहू अंतर्गत गनालोया गांव का निवासी है।

गिरफ्तार आरोपित की निशानदेही पर पुलिस ने घटना में प्रयुक्त एक स्कूटी और होंडा मोटरसाइकिल बरामद कर ली है।

साथ ही गिरफ्तार अभियुक्त से मिली जानकारी के आधार पर घटना में शामिल अन्य अपराधियों की तलाश के लिए पुलिस छापामारी कर रही है।

यह जानकारी एसपी आशुतोष शेखर ने शुक्रवार शाम खूंटी थाना परिसर में आयोजित एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में दी।

एसपी ने बताया कि कांड की गंभीरता को देखते हुए उन्होंने एक विशेष एसआइटी का गठन किया था।

एसआइटी में शामिल मुख्यालय एसडीपीओ जयदीप लकड़ा, खूंटी एसडीपीओ अमित कुमार सहित मारंगहादा, खूंटी, मुरहू तथा सायको थाना के पुलिस अधिकारियों ने टीम वर्क के तहत काम करते हुए विभिन्न बिंदुओं गहराई से पड़ताल करते हुए कांड के मुख्य अभियुक्त को गिरफ्तार कर मामले का खुलासा किया।

एसपी ने कहा कि प्रारंभ में दुष्कर्म की शिकार लड़कियों के बयानों में भिन्नता आ रही थी।  अब मुख्य अभियुक्त के पकड़ में आ जाने के बाद पूरा मामला साफ हो गया।

प्रारंभ में चार अपराधियों के इस कांड में शामिल होने की बात सामने आई थी, लेकिन अब यह खुलासा हुआ कि कांड में तीन अपराधी ही शामिल थे।

दुष्कर्म की शिकार लड़कियों ने भी इसकी पुष्टि की है। इसी प्रकार पहले माहिल गांव के स्कूल भवन में दुष्कर्म होने की बात सामने आई थी, लेकिन अब यह खुलासा हुआ कि सामूहिक दुष्कर्म की यह घटना गनालोया गांव के उत्क्रमित मध्य सह उच्च विद्यालय भवन में घटित हुई थी।

गिरफ्तार अभियुक्त द्वारा इस बात का खुलासा करने के बाद दुष्कर्म की शिकार लड़कियों को गनालोया स्कूल भवन ले जाया गया, तो लड़कियों ने भी यहीं उनके साथ दुष्कर्म होने की पुष्टि की।

एसपी ने कहा कि दुष्कर्म के शिकार लड़कियां क्षेत्र से अपरिचित थीं। इसलिए स्कूल भवन को लेकर उनमें भ्रम हो गया था।

इसी प्रकार चाकू के नोंक पर खूंटी से अगवा करने की बात भी गलत निकली।  अभियुक्त लड़कियों को बहला-फुसलाकर वहां ले गए थे।

एसपी ने बताया कि दुष्कर्म पीड़ित लड़कियों का समुचित इलाज करा लिया गया है।  फिलहाल वे पुलिस संरक्षण में हैं।

आगे सीडब्ल्यूसी के आदेश के अनुसार अग्रसर कार्रवाई की जाएगी।  गिरफ्तार अभियुक्त का अपराधिक इतिहास भी रहा है

गिरफ्तार अभियुक्त भरत महतो का आपराधिक इतिहास भी रहा है।

वह इससे पूर्व तोरपा थाना में वर्ष 2013 में दर्ज आर्म्स एक्ट के एक मामले तथा खूंटी थाना में वर्ष 2016 में रेप केस व पोक्सो एक्ट के तहत दर्ज मामले में दो बार जेल भी जा चुका है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button