सांसद संजय सेठ ने मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को लिखा पत्र

रांची: रांची के सांसद संजय सेठ ने शनिवार को मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को पत्र लिखा है।

पत्र के माध्यम से उन्होंने रांची लोकसभा क्षेत्र के ईचागढ़ विधानसभा क्षेत्र में स्थित दो स्वास्थ्य केंद्रों की बदहाली की तरफ ध्यान आकृष्ट कराया है।

पत्र में उन्होंने लिखा है कि चांडिल में एनएच-33 पर प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, चौलीबासा स्थित है।

यह स्वास्थ्य केंद्र ना सिर्फ इस क्षेत्र का बल्कि राष्ट्रीय राजमार्ग के लगभग 50 किलोमीटर के क्षेत्र का इकलौता स्वास्थ्य केंद्र है। यह अस्पताल काफी बदहाल हो चुका है। अस्पताल के भवन का जीर्णोद्धार करने की आवश्यकता है।

अस्पताल में कोई संसाधन नहीं है। पारा मेडिकल स्टाफ नहीं है। यहाँ चिकित्सा के लिए आने वाले ग्रामीणों को कई समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

यहाँ आने पर जानकारी मिली कि इस अस्पताल के लिए सरकार ने एक चिकित्सक को नियुक्त किया था लेकिन वर्तमान समय में उन्होंने अपना पदस्थापन जमशेदपुर में करवा लिया है।

इस वजह से मामूली रूप से भी बीमार लोगों को यहाँ समुचित उपचार नहीं मिल पाता। महिलाओं के प्रसव के लिए कोई स्थाई स्वास्थ्यकर्मी नहीं है।

चांडिल अनुमंडल अस्पताल की स्थिति भी बहुत ही बदहाल है। 2008 में इस अस्पताल के भवन का निर्माण कार्य शुरू हुआ था।

यह भवन बनकर लगभग पूर्ण हो चुका है लेकिन अबतक यहाँ उपचार व अन्य चिकित्सकीय सुविधाएँ आरम्भ नहीं हो पायी हैं।

यदि इस अस्पताल का संचालन शुरू हो जाता है तो यहाँ की बड़ी आबादी सीधे लाभान्वित होगी। स्थानीय ग्रामीणों व नागरिकों को बेहतर चिकित्सकीय सुविधाएँ मिल सकेंगी।

सांसद ने आग्रह किया कि उपरोक्त दोनों अस्पतालों के जीर्णोद्धार की दिशा में निर्देश जारी करें ताकि इन अस्पतालों से स्थानीय जनता को उपचार व अन्य चिकित्सकीय सुविधाएँ उपलब्ध हो सके।

सांसद ने पत्र की प्रतिलिपि स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता और स्वास्थ विभाग के सचिव को भी भेजी है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button