रांची में परीक्षा से पहले पेपर हुआ लीक, अभ्यर्थियों ने किया जमकर हंगामा, सड़क जाम

परीक्षा से पहले ही प्रश्नपत्र आउट हो गया है, परीक्षा का बुधवार को तीसरा दिन है

रांची: बरियातू थाना क्षेत्र स्थित आरटीसी हाई स्कूल में फार्मेसी कोर्स की परीक्षा देने आये अभ्यर्थियों ने प्रश्न पत्र आउट हो जाने की वजह से सेंटर पर हंगामा किया और परीक्षा को स्थगित करने की मांग की है।

डी फार्मा के दो वर्षीय कोर्स के पहले वर्ष के लिए परीक्षा हो रही है। आरटीसी हाई स्कूल, बीएड कालेज सहित कई जगहों पर सेंटर है।

परीक्षा से पहले ही प्रश्नपत्र आउट हो गया है। परीक्षा का बुधवार को तीसरा दिन है।

पुलिस आरटीसी हाई स्कूल पहुंच कर सभी अभ्यर्थियों को शांत कराया, 2:10 में वीक्षक (इनविजिलेटर) की ओर से कहा गया कि आपकी परीक्षा रद्द हो गई

Paper leaked before exam in Ranchi, candidates created ruckus, road jam

परीक्षा स्वास्थ्य विभाग के अंतर्गत इग्जामिनेशन कमेटी डिप्लोमा इन फार्मेसी लेती है।

स्टेट फार्मेसी काउंसिल के चेयरमैन यदुनाथ मार्डी और सचिव कौशलेंद्र कुमार हैं। घटना की सूचना मिलते ही पुलिस आरटीसी हाई स्कूल पहुंच कर सभी अभ्यर्थियों को शांत कराया और कहा कि आपकी हर बात को सुना जायेगा।

फिलहाल माहौल को शांत बनाये रखें। अभ्यर्थियों का कहना था कि प्रश्न पत्र आउट हो जाने की वजह से सही रूप से मूल्यांकन नहीं हो पायेगा और जो अभ्यर्थी पढ़ कर परीक्षा देने आये हैं वो अधिक मार्क्स हासिल नहीं कर पायेंगे।

Paper leaked before exam in Ranchi, candidates created ruckus, road jam

बताया गया कि फर्स्ट ईयर की तीसरे पेपर की परीक्षा बुधवार दो बजे से आयोजित थी। अभ्यर्थियों को 1:30 में क्लास रूम में बैठा भी दिया गया और 2:10 में वीक्षक (इनविजिलेटर) की ओर से कहा जाता है कि आपकी परीक्षा रद्द हो गयी है।

इससे नाराज पांच हजार छात्रों का आक्रोश फूट पड़ा और सभी ने एक साथ बरियातू बूटी रोड को जाम कर दिया। जामस्थल पर पेपर लीक होने की चर्चा भी जोरों पर थी।

छात्र नहीं माने तो उन्हें हल्का बल प्रयोग कर हटाया गया

Paper leaked before exam in Ranchi, candidates created ruckus, road jam

सड़क जाम की सूचना सदर थाना को मिली। इसके बाद मौके पर पीसीआर 9 के जवान पहुंचे।

जवानों ने आक्रोशित छात्रों को समझाने की कोशिश की। जब छात्र नहीं माने तो उन्हें हल्का बल प्रयोग कर हटाया गया। जिसमें एक दो छात्रों को हल्की चोट भी आई है।

परीक्षा देने आए अरुण, संजय, राहुल, शैलेंद्र, निर्भय और अनिल ने कहा कि झारखंड बिहार और उत्तर प्रदेश से भी परीक्षार्थी परीक्षा देने आए हुए थे। अचानक परीक्षा रद्द होने की घोषणा कर दी जाती है। इससे छात्रों का भविष्य अंधकार में होने की आशंका है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button