झारखंड

भाजपा के साजिश को देखते हुए राज्य में फिर एक बड़े आंदोलन की जरूरत: झामुमो

लोकप्रिय आदिवासी मुख्यमंत्री को नहीं पचा पा रही है भाजपा

रांची: झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के वरिष्ठ नेता सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा कि भाजपा झारखंड में लोकप्रिय आदिवासी मुख्यमंत्री को नहीं पचा पा रही है।

इसलिए येन केन प्रकारेण राज्य सरकार पर मनोवैज्ञानिक तरीके से दबाव बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

सुप्रियो भट्टाचार्य रविवार को बरियातू स्थित पार्टी कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने रघुवर सरकार के दौरान पूजा सिंघल को समर्थन दिये जाने का आरोप लगाया। भट्टाचार्य ने कहा कि तत्कालीन कार्मिक सचिव निधि खरे ने अपनी जांच रिपोर्ट में स्पष्ट तौर पर कहा था कि पूजा ने मनरेगा योजनाओं में गड़बड़ी की थी।

ईडी की छापेमारी

इस पर कार्रवाई की बजाए पूजा प्रोत्साहित किया गया। मनरेगा से लेकर मोमेंटम झारखंड तक ऐसे कई उदाहरण देखे जा सकते हैं।

उन्होंने कहा कि ईडी की छापेमारी के बाद सीए सुमन कुमार सिंह से पूछताछ की गयी है। साथ ही कहा कि सुमन पर दबाव बनाया जा रहा है कि वो कहे कि सारा पैसा सीएम हेमंत सोरेन का है।

भाजपा के रवैये और साजिश को देखते हुए राज्य में फिर एक बड़े आंदोलन की जरूरत है। भट्टाचार्य ने दावा करते हुए कहा है कि इससे सरकार की सेहत पर किसी प्रकार से असर नहीं पड़ने वाला है।