झारखंड

राजस्व निरीक्षक भानू प्रताप की चार दिनों की रिमांड अवधि बढ़ी, पेशी से पहले हुआ मेडिकल

पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) से संबंधित 8.5 एकड़ बड़गाईं अंचल की जमीन दखल के मामले में बड़गाईं अंचल के राजस्व निरीक्षक (हल्का कर्मचारी) भानु प्रताप प्रसाद (Bhanu Pratap Prasad) की Remand अवधि खत्म होने पर मंगलवार को कोर्ट में पेश किया गया।

Remand of Bhanu Pratap Prasad: पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन (Hemant Soren) से संबंधित 8.5 एकड़ बड़गाईं अंचल की जमीन दखल के मामले में बड़गाईं अंचल के राजस्व निरीक्षक (हल्का कर्मचारी) भानु प्रताप प्रसाद (Bhanu Pratap Prasad) की Remand अवधि खत्म होने पर मंगलवार को कोर्ट में पेश किया गया।

इस दौरान ED की ओर से भानु को पूछताछ के लिए फिर से 5 दिनों की रिमांड की मांग की गई।

इसका भानू के अधिवक्ता ने विरोध किया। ED के विशेष लोक अभियोजक शिव कुमार की बहस सुनने के बाद ED के विशेष न्यायाधीश राजीव रंजन (Rajeev Ranjan) की अदालत ने भानू से चार दिनों तक पूछताछ करने की अनुमति दे दी है।

ED की टीम भानु को साथ लेकर ED कार्यालय रवाना हो गयी। पेशी से पहले भानु का मेडिकल कराया गया।

ED की अब तक की जांच में यह पता चला है कि भानू प्रताप ने बरियातू में 8.5 एकड़ जमीन सहित अवैध रूप से संपत्ति हासिल करने में Hemant Soren की सहायता की है। पूछताछ में कई और अहम खुलासे हो सकते हैं।

भानु प्रताप पहले से ही बरियातू की सेना की जमीन घोटाला मामले में जेल में बंद हैं। ED ने भानु को पांच फरवरी को इस मामले में गिरफ्तार किया था।

ED हेमंत सोरेन और भानु प्रताप को आमने-सामने बैठा कर पूछताछ कर रही है। क्योंकि, भानु प्रताप के आवास से ही बरामद दस्तावेज और उसके मोबाइल से मिली जानकारी के आधार पर ED ने इस मामले में ECIR 6 /2023 दर्ज किया है और मामले की जांच कर रही है। इस मामले में भानु प्रताप प्रसाद, Hemant Soren एवं अज्ञात अन्य को आरोपित बनाया गया है।

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker