झारखंड विधानसभा में हंगामे के बीच 7323.25 करोड़ का अनुपूरक बजट पेश

रांची: झारखंड विधानसभा के बजट सत्र के दूसरे दिन सोमवार को चालू वित्तीय वर्ष 2020-21 का द्वितीय अनुपूरक बजट पेश किया गया।

विपक्ष के हंगामे के बीच सदन में वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने 7323.25 करोड़ का अनुपूरक बजट पेश किया।

विधानसभा की कार्यवाही शुरु होते ही भाजपा विधायक मनीष जायसवाल ने हजारीबाग के सदर प्रखंड में जनवितरण प्रणाली की दुकानों के जरिये मिलावटी किरासन तेल का मुद्दा उठाते हुए कार्यस्थगन प्रस्ताव दिया।

वहीं, भाजपा विधायक नवीन जायसवाल ने नियोजन नीति और अनंत ओझा ने बांग्लादेशी घुसपैठियों के मुद्दे पर पर कार्यस्थगन प्रस्ताव लाकर चर्चा कराने की मांग की।

पर विधानसभाध्यक्ष रवींद्रनाथ महतो ने इन सभी कार्यस्थगन प्रस्ताव को अमान्य कर दिया। इसके बाद भाजपा के विधायक वेल में आकर हंगामा करने लगे।

विधानसभाध्यक्ष ने विपक्षी विधायकों को समझाने का बहुत प्रयास किया पर जब वे नहीं माने तो उन्होंने विधानसभा की कार्यवाही दोपहर साढ़े 12 बजे के लिए स्थगित कर दी।

सभा की कार्यवाही फिर शुरु होने पर भाजपा विधायक वेल मेें आकर हंगामा करने लगे। विपक्षी विधायकों के शोर-शराबे के कारण सदन में प्रश्नोत्तर काल की कार्यवाही पूरी तरह बाधित रही।

हंगामे के बीच ही वित्त मंत्री डॉ रामेश्वर उरांव ने वित्तीय वर्ष 2020-21 के लिए 7323.25 करोड़ का द्वितीय अनुपूरक बजट पेश किया।

पहली पाली मेें सदन की कार्यवाही दो बार स्थगित की गयी। वहीं दूसरी पाली में राज्यपाल के अभिभाषण पर चर्चा हुई।

इससे पहले विपक्षी विधायकों ने सदन की कार्यवाही शुरु होने से पहले सदन के बाहर सरकार विरोधी नारे लगाये।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button