इतने मिनट के बाद ‘ज़हर’ बन जाती है कड़क चाय, जानें कितनी देर उबालना है सही?

कई लोग चाय को कड़क बनाने के लिए इसे काफी देर तक उबाल देते हैं

दुनियाभर में लोग चाय पीना पसंद करते हैं तो कई चाय की आशिक होते हैं। इनमें कई लोग अपने दिन की शुरुआत बिना चाय के नहीं करते।

लगभग 95% लोग ऐसे हैं जो कि चाय से अपने दिन की शुरुआत करना पसंद करते हैं और साथ ही उसके स्वाद को भी सर्वोत्तम मानते हैं।

शोध के मुताबिक चाय एनर्जी बढ़ाने का काम करती है अक्सर लोग जब काम के दौरान थक जाते हैं तो एक प्याली चाय की पी लेते हैं जिससे कि वह तरोताजा महसूस करने लगते हैं और फिर से अपने काम में जुट जाते हैं। सुबह-शाम की चाय के अलावा दिन भर में ऑफिस में काम के बीच न जाने कितने ही कप चाय गले से उतर जाती है।

सड़कों पर भी आपको चाय की टपरी नजर आ जाएगी जहां पूरे दिन लोगों की भीड़ नजर आती है। गपशप करते हुए चाय की चुस्कियां लेने वाले लोग कम नहीं हैं।

लेकिन कई लोग चाय को कड़क बनाने के लिए इसे काफी देर तक उबाल देते हैं। ये होती है बहुत बड़ी गलती। अगर दूध वाली चाय को काफी देर तक खौलाया जाए, तो वो जहर बन जाती है।

इतने मिनट के बाद जहर बन जाती है कड़क चाय, जानें कितनी देर उबालना है सही ?

ज्यादा मिनट नहीं उबालें चाय…

ऐसे में आज हम आपको बताने जा रहे हैं चाय बनाने से जुड़ी काफी अहम बात। इसमें आपको चाय को बनाने के सही तरीके से लेकर इसे उबालने के परफेक्ट टाइमिंग का भी पता चल जाएगा। इससे ज्यादा मिनट नहीं उबालें चाय…

भारत में कई तरह की चाय पी जाती है। लाल, काली और दूध वाली चाय बड़े शौक से पी जाती है। इसमें लोग दूध वाली चाय सबसे ज्यादा पीना पसंद करते हैं। हर गली-मोहल्ले और चौक-चौराहे पर दूध वाली चाय आपको बिकती नजर आ जाएगी।

कुछ लोग सीधे दूध में चायपत्ती और चीनी मिलाकर गैस पर चढ़ा देते हैं। लेकिन ये चाय बनाने का गलत तरीका है। परफेक्ट चाय बनाने के लिए सबसे पहले गैस पर पानी उबालना चाहिए।

इतने मिनट के बाद जहर बन जाती है कड़क चाय, जानें कितनी देर उबालना है सही ?

एक कप पानी पतीले में डालकर उबाल लें

एक कप पानी पतीले में डालकर उबाल लें। इसके बाद इसमें एक छोटी चम्मच चायपत्ती डाल दें। चायपत्ती को पानी में अच्छे से उबाल दें। इससे चाय में रंग काफी अच्छा आ जाएगा। साथ ही खुशबू काफी अच्छी आती है।

जब चायपत्ती का रंग निखर जाए तब इसमें दूध मिला दें। दूध मिलाने के बाद इसे आगे और तीन मिनट के लिए उबालें। इससे ज्यादा उबालने के कारण चाय के कड़वापन आ जाता है।

ग्रीन टी को गर्म पानी में तीन मिनट उबालकर सीधे छान लेना चाहिए। इससे ना सिर्फ चाय में अच्छा टेस्ट आता है बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी ये काफी फायदेमंद होता है।

इतने मिनट के बाद जहर बन जाती है कड़क चाय, जानें कितनी देर उबालना है सही ?

मिट्टी के कप में पीना सबसे ज्यादा फायदेमंद

चाय बनाने के बाद इसे मिट्टी के कप में पीना सबसे ज्यादा फायदेमंद होता है। प्लास्टिक के कप स्वास्थ्य के लिए काफी नुकसानदायक होते हैं।

दूध की चाय के अलावा काली चाय को भी सिर्फ पांच मिनट तक उबालना चाहिए। ये चाय को उबालने का परफेक्ट टाइम होता है। वहीं ग्रीन टी को सिर्फ तीन मिनट तक उबालना चाहिए।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button