चाईबासा ब्लास्ट में शहीद जवान के अंतिम संस्कार में रो पड़ा गांव

सिमडेगा: चाईबासा आईईडी ब्लास्ट में शहीद हुए झारखंड जगुआर के जवान किरण सुरीन का तिरंगे से लिपटे पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव गोवरधंसा पहुंचते ही उनके अंतिम दर्शन करने को लेकर भीड़ उमड़ पड़ी।

पार्थिव शरीर के पहुंचते ही पूरा गांव गमगीन हो गया। शहीद किरण का शव जैसे ही गांव पहुंचा, चारों ओर मातमी सन्नाटा छा गया।तिरंगे में लिपटे बेटे को देख मां ग्लेडी सुरीन और पत्नी ग्रेस सुरीन स्तब्ध अपने वीर को ताक रहे थे। रो-रो कर आंखों के आंसु सुख गये हैं। मानो, आंखों में गम दिल में शहीद के लिए गर्व।

इसके बाद कब्रिस्तान में ही शहीद जवान को झारखंड पुलिस के जवानों के द्वारा अंतिम सलामी दी गई। शहीद को पांच राउंड फायरिंग कर सलामी दिया गया।

शहीद के परिजनों एवं उपस्थित ग्रामीणों के द्वारा नम आंखों से शहीद के पार्थिव शरीर का अंतिम दर्शन किया गया। लोगों के अंतिम दर्शन के बाद शहीद के शरीर को पुरोहितों के वचनों के साथ कब्रिस्तान में दफनाया गया।

मौके पर मुख्य रूप से बानो सर्किल इंस्पेक्टर आलोक कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी अखिलेश कुमार, कोलेबिरा थाना प्रभारी रामेश्वर भगत, एसआई संतोष कुमार, नवाटोली मुखिया कुनूल होरो, भाजपा मंडल अध्यक्ष अशोक इंदवार, सांसद प्रतिनिधि चिंतामणि कुमार, कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष सुनील खड़िया, कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष श्याम लाल प्रसाद, विधायक प्रतिनिधि सुलभ नेल्सन डुंगडुंग, कांग्रेस अल्पसंख्यक मोर्चा के बदरुद्दीन अहमद, एनसीसी कैडेट, झारखंड जगुआर के जवान, सिमडेगा पुलिस के जवान के अलावे भारी संख्या में ग्रामीण अपने शहीद जवान के अंतिम विदाई पर उपस्थित थे।

मेरा बेटा शहीद होकर अपना नाम रोशन: ग्लेडी

शहीद की मां ग्लेडी ने कहा इससे बड़ी बात मेरे लिए और क्या हो सकती है, कि मेरा बेटा शहीद होकर पूरे परिवार का नाम रोशन कर दिया।

वहीं, शहीद की पत्नी ने कहा मेरे पति वीर गति को प्राप्त हुए हैं, इससे ज्यादा गर्व की बात क्या होगी।

सतारूढ दल के उप मुख्य सचेतक सह कोलेबिरा विधायक नमन विक्सल कोंगाड़ी विधानसभा सत्र छोड़ शहीद को श्रद्धांजलि देने कोलेबिरा के गोबरधंसा गांव पंहुचे।

विधायक ने शहीद किरण सुरीन को श्रद्धांजलि दी। विधायक ने कहा कि सरकार शहीद के परिजनों के साथ है। उन्होंने कहा कि सरकार शहीद के परिजनों को सहयोग देते हुए उनके परिजनों को हर तरह की मदद करेगी।

उन्होंने कहा कि नक्सली भी हमारे भाई हैं वे रास्ता भटक गए हैं।

उन्होंने नक्सलियों को भी मुख्यधारा में लौटने की बात करते हुए कहा कि सरकार नक्सलियों को रोजगार देगी वे मुख्यधारा में लौटे। उन्होंने शहीद के परिजनों से मिल स्थानीय भाषा में उनको सांत्वना दी।

उपायुक्त व एसपी ने दी श्रद्धांजलि

उपायुक्त सुशांत गौरव एवं एसपी डॉ शम्स तबरेज ने शहीद को श्रद्धांजलि दी। शुक्रवार को जिले के उपायुक्त एवं एसपी शहीद के पैतृक घर गोबरधंसा पहुंचे।

शहीद के घर पहुंच कर उन्होंने शहीद के पार्थिव शरीर में श्रद्धासुमन अर्पित किया। उपायुक्त सुशांत गौरव ने सांत्वना देते हुए कहा कि पूरा जिला प्रशासन आपके साथ है।

आपके पति ने देश के लिए अपनी जान दिया है। इस दुख की घड़ी में भगवान आपको दुख सहने की शक्ति दे।

आपको सरकार के द्वारा मिलने वाली सारी सरकारी लाभ जल्द से जल्द दिलाया जाएगा।

एसपी डॉक्टर शम्स तबरेज ने कहा कि माओवादियों ने कायराना हरकत किया है।

शहीद का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा। माओवादी जल्द से जल्द मुख्यधारा में लौटे नहीं तो वे बख्शे नहीं जाएंगे।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button