श्रीलंका में इस साल हुई 12 तेंदुओं की मौत

कोलंबो: श्रीलंका की केन्द्रीय पहाड़ियों में एक और तेंदुआ मृत पाया गया है। इसके बाद इस साल द्वीपीय राष्ट्र में तेंदुए की मौत की कुल संख्या 12 हो गई है। वन्यजीव अधिकारियों ने सोमवार को यह जानकारी दी।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, वन्यजीव संरक्षण विभाग ने कहा है कि 12 तेंदुए में से 11 की मौत जाल में फंसने के कारण हुई है।

28 नवंबर को हुई हालिया मौत भी तेंदुए के एक जाल में फंसने के बाद उसके आंतरिक अंगों को हुए गंभीर नुकसान के कारण हुई।

वन्यजीव अधिकारियों ने कहा कि जाल का इस्तेमाल सूअरों को फंसाने के लिए किया गया था।

हाल के महीनों में वन्यजीव संरक्षण विभाग (डीडब्ल्यूसी) ने जाल के उपयोग और इससे वन्यजीवों पर होने वाले प्रभाव पर कई जागरूकता कार्यक्रम आयोजित किए हैं

। डीडब्ल्यूसी के महानिदेशक एम.जी.सी. सोरियाबंदारा ने कहा कि उनके विभाग ने इन क्षेत्रों में ग्रामीणों को शिक्षित करने के लिए नुवारा एलिया की केंद्रीय पहाड़ियों में हाल ही में कार्यक्रम पूरा किया है।

उन्होंने कहा कि जाल का इस्तेमाल करना गैरकानूनी है और अगर कोई दोषी पाया गया तो उन्हें सजा दी जाएगी। श्रीलंका में तेंदुआ एक संरक्षित प्रजाति है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button