अहमद पटेल गुरुवार को अपने पिरमान गांव में दफनाए जाएंगे

गांधीनगर: कांग्रेस के दिग्गज नेता अहमद पटेल का बुधवार सुबह निधन हो गया। उनका अंतिम संस्कार गुरुवार सुबह 10 बजे उनके पैतृक गांव पिरमान में होगा।

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी पार्टी के कई प्रमुख नेताओं के साथ पटेल के अंतिम संस्कार में मौजूद होंगे।

71 वर्षीय दिग्गज नेता को भरूच जिले के उनके पैतृक गांव की मिट्टी को सुपुर्द कर दिया जाएगा।

पटेल की इच्छा थी कि वह अपने माता-पिता की कब्रों के साथ पिरमान गांव में दफन हो जाएं।

पटेल के पार्थिव शरीर को बुधवार शाम वड़ोदरा हवाईअड्डे पर उतारा गया, जहां से उन्हें पिरमान गांव ले जाया गया।

हवाईअड्डे पर गुजरात कांग्रेस के अधिकांश शीर्ष नेता मौजूद थे।

कोविड-19 के कारण सामाजिक दूरी बनाए रखने के लिए एक बड़े मैदान में सामूहिक नमाजे जनाजा की मंजूरी दे दी गई है।

गुजरात कांग्रेस के अधिकांश सदस्य और राजनेता अंतिम संस्कार में उपस्थित होंगे।

राहुल गांधी सुबह 7:30 बजे सूरत एयरपोर्ट पहुंचेंगे। वहां से वह पिरमान की यात्रा करेंगे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रुपाणी, गुजरात के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल, गुजरात भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटिल, गुजरात प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष अमित चावड़ा, सहित देश के शीर्ष राजनेताओं से शोक संवेदना व्यक्त की गई।

विपक्षी परेश धनानी, सभा सदस्य शक्तिसिंह गोहिल और गुजरात के पूर्व सीएम शंकरसिंह वाघेला सहित अन्य ने पटेल के प्रति शोक प्रकट किया।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button