कोरोना योद्धा के परिजनों को एक करोड़ रुपए की सहायता

नई दिल्ली: कोरोना के कारण जान गंवाने वाले कोरोना योद्धा के परिजनों को एक करोड़ रुपए की सहायता दी गई है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कोरोना योद्धा स्वर्गीय राकेश जैन के परिवार से मुलाकात की।

इस दौरान मुख्यमंत्री ने उनके आश्रितों को एक करोड़ रुपए की सहायता राशि का चेक सौंपा। पूर्वी दिल्ली स्थित बाहुबली एन्क्लेव निवासी राकेश जैन हिंदू राव अस्पताल में लैब टेक्निशियन थे।

वे आखिरी दम तक लोगों की सेवा करते रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसी की जान की कीमत नहीं लगाई जा सकती, लेकिन मैं समझता हूं कि इस राशि से उनके परिवार को थोड़ी मदद मिलेगी।

दिल्ली सरकार उनके बेटे को नौकरी भी देगी। सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि, स्वर्गीय राकेश जैन हिंदू राव अस्पताल में लैब टेक्निशियन थे।

लोगों की सेवा करते हुए उन्हें खुद भी कोरोना हो गया। उनकी तबीयत खराब होने पर मेट्रो अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया था, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका और वे शहीद हो गए।

ऐसे हमारे जाबांज लोग, जो अपनी जान की परवाह किए बिना लोगों की सेवा कर रहे हैं, मरणोपरांत उनके परिवार की मदद करने के लिए दिल्ली सरकार एक करोड़ रुपए की राशि देती है।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, राकेश जैन के बड़े बेटे ने ग्रैजुएशन पूरा कर लिया है और नौकरी की तलाश में हैं। दिल्ली सरकार उनको नौकरी भी देगी।

जब भी उनके परिवार को किसी चीज की जरूरत होगी, हम मदद करने के लिए तैयार हैं। मैंने उनके परिवार को भरोसा दिया है कि उन्हें किसी भी तरह की चिंता करने की जरूरत नहीं है।

सरकार उनके साथ खड़ी है और हर संभव मदद करेगी।उल्लेखनीय है कि कोरोना योद्धा स्वर्गीय राकेश जैन नॉर्थ एमसीडी के हिंदू राव अस्पताल में पैथोलॉजी विभाग में लैब टेक्निशियन के पद पर तैनात थे।

हिंदू राव अस्पताल कोविड अस्पताल घोषित किया गया था। 18 जून 2020 को उनका निधन हो गया।राकेश जैन अपने पीछे अपनी मां, पत्नी और दो बच्चों को छोड़ गए हैं।

उनकी पत्नी गृहणी हैं, जबकि बड़ा बेटा ग्रैजुएशन पूरी कर सर्विस की तैयारी कर रहा है और छोटा बेटा बीए कर रहा है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button