कांग्रेस से BJP फिर कांग्रेस में लौटे चौधरी बीरेंद्र सिंह, पत्नी को भी…

News Aroma Desk

Chaudhary Birendra Singh Joined Congress: केंद्र की BJP सरकार में मंत्री रह चुके चौधरी बीरेंद्र सिंह (Chaudhary Birendra Singh) मंगलवार को कांग्रेस में शामिल हो गए।

- Advertisement -

उनके साथ उनकी पत्नी प्रेमलता ने भी कांग्रेस की सदस्यता ली। बीरेंद्र सिंह लंबे समय तक Congress में रहे हैं। लेकिन, करीब 10 वर्ष पूर्व वह कांग्रेस छोड़कर BJP में आ गए थे।

कांग्रेस का मानना है कि Birendra Singh की घर वापसी हरियाणा में BJP के लिए एक बड़ा झटका है। वह पांच बार विधायक, राज्यसभा और Lok Sabha MP रह चुके हैं। वह विख्यात समाजसेवी व राजनेता सर छोटू राम के नाती हैं।

- Advertisement -

मंगलवार को कांग्रेस मुख्यालय में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री Bhupendra Singh Hudda, कांग्रेस महासचिव रणदीप सिंह सुरजेवाला, मुकुल वासनिक और कुमारी शैलजा समेत अन्य नेताओं की मौजूदगी में उन्हें कांग्रेस में शामिल कराया गया।

इस मौके पर Birendra Singh ने कहा कि मैं इसे घर वापसी से ज्यादा विचारधारा में वापसी का अवसर मानता हूं। उन्होंने बताया कि Congress छोड़ते समय उन्होंने सोनिया गांधी से मिलकर विदाई ली थी।

43 साल तक कांग्रेस के साथ रहने के बाद साल 2014 में वह BJP में आए थे। हरियाणा के कद्दावर जाट नेता माने जाने वाले चौधरी बीरेंद्र सिंह रिश्ते में हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री Bhupendra Singh Hudda के भाई हैं।

मंगलवार को कांग्रेस में शामिल होते समय उन्होंने बताया, “भूपेंद्र सिंह हुड्डा उनकी बुआ का छोरा हैं और रणदीप सिंह सुरजेवाला उनके मामा का छोरा है।”

वहीं, भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने भी मंच से बीरेंद्र सिंह को अपना बड़ा भाई कहकर संबोधित किया।

इससे पहले सोमवार को बीरेंद्र सिंह ने BJP अध्यक्ष जेपी नड्डा को अपना इस्तीफा भेजा था। उनके बेटे बृजेंद्र सिंह पहले ही कांग्रेस का हाथ थाम चुके हैं।
बीरेंद्र सिंह की पत्नी एवं पूर्व MLA Premlata ने भी BJP की प्राथमिक सदस्यता से इस्तीफा देकर कांग्रेस पार्टी ज्वाइन की है।

वहीं, इनके पुत्र बृजेंद्र सिंह ने 2019 में BJP के टिकट पर लोकसभा का चुनाव जीता था। बृजेंद्र सिंह मौजूदा समय में हिसार से सांसद हैं। 2019 में बृजेंद्र सिंह ने आईएएस की नौकरी छोड़कर सियासत में कदम रखा था।

- Advertisement -

बीरेंद्र सिंह हरियाणा की उचाना सीट से पांच बार विधायक रह चुके हैं। वह 1977 से 82, 1982 से 84, 1991 से 1996, 1996 से 2000 तथा 2005 से 2009 तक विधायक रहे। वह कैबिनेट मंत्री भी बने। वह तीन बार सांसद और Central government में मंत्री भी रहे हैं।

हमें Follow करें!

x