कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे ने मांगी सरकार से कुछ संशोधनों के साथ लोक आस्था के महान पर्व को मनाने की आनुमति

रांची: कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता आलोक कुमार दूबे, लाल किशोरनाथ शाहदेव और राजेश गुप्ता ने छठ महापर्व को लेकर राज्य सरकार से आग्रह किया है कि कुछ संशोधनों के साथ छठ वर्तियों को नदी, तालाबों एवं छठ घाटों पर लोक आस्था के महान पर्व को मनाने की आनुमति दी जाए। प्रवक्ताओं ने सोमवार को कहा कि छठ पर्व की मान्यताओं के अनुसार कोरोना का सफाया हो जाएगा।

राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का भाजपा के कुछ नेताओं द्वारा विरोध किये जाने को राजनीति से प्रेरित बताते हुए प्रवक्ताओं ने राज्य सरकार से मांग की है कि अन्य पर्व-त्योहार की भांति सीमित संख्या में छठव्रतियों को छठ घाट जाकर पूजा करन की अनुमति दी जाए। कोरोना संक्रमण पर अंकुश को लेकर केंद्र सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों का झारखंड में सख्ती से पालन किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि अभी कोरोना संक्रमण के मामले में कमी जरूर आयी है, लेकिन अभी संक्रमण से मुक्ति नहीं मिली है। इसलिए लोगों को सावधानी बरतनी चाहिए। उन्होंने कहा कि छठ महापर्व आस्था से जुड़ी हुई है। इसलिए राज्य सरकार द्वारा जारी किए गए दिशा-निर्देशों पर पुनर्विचार की आवश्यकता की आवश्यकता है।

राज्य की जनता गठबंधन सरकार के निर्णयों के साथ है। सरकार किसी की दुश्मन नहीं है। राज्य सरकार को हर एक जिंदगी की चिन्ता है। भाजपा को नौटंकी करने की जरुरत नहीं है।

किसी को भी ठीकेदारी करने की जरुरत नहीं है। प्रवक्ताओं ने कहा कि छठ पर्व को लेकर राज्य सरकार निश्चित रूप से जनभावना का ख्याल रखेगी। लेकिन राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का विरोध करने के पहले भाजपा नेताओं को बिहार और उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन का अध्ययन करना चाहिए।

Back to top button