मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुलाई बैठक, कोरोना को लेकर ले सकते हैं बड़े फैसले

रांची: झारखंड में कोरोना के नए मरीजों में कमी आयी है। पिछले दस दिनों से लगातार जितने मरीज मिल रहे हैं, उनसे ज्यादा स्वस्थ होकर लौट रहे हैं।

इसी बीच मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन सोमवार 24 मई को बैठक बुलाई है। बताया जा रहा है कि कोरोना वायरस की संभावित तीसरी लहर को लेकर इस बैठक में चर्चा होगी।

सीएम सभी मंत्रियों से कोरोना की तीसरी लहर की रोकथाम और इससे संबंधित उपायों पर विचार करेंगे। बता दें कि इससे पूर्व कैबिनेट की बैठक मार्च में हुई थी।

कोरोना महामारी से बचाव और रोकथाम के लिए मुख्‍यमंत्री लगातार कदम उठा रहे हैं।

यहां क्लिक कर हमारे whatsapp news group से जुड़ें

मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुलाई बैठक, कोरोना को लेकर ले सकते हैं बड़े फैसले

मुख्यमंत्री ने आवासीय कार्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए राज्य में कोरोना संक्रमण की अद्यतन स्थिति तथा संभावित तीसरे लहर की रोकथाम एवं नियंत्रण से संबंधित तैयारियों के संबंध में विचार-विमर्श करेंगे। बैठक में राज्य के सभी कैबिनेट मंत्री उपस्थित रहेंगे।

ज़रूरत पड़ने पर कड़े फ़ैसले लेने से भी नहीं हिचक रही सरकार

इधर सीएम ने रविवार को ट्वीट करके कहा कि स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह के अन्तर्गत पहले आंशिक लॉकडाउन एवं अभी किए जा रहे कड़ाई से हमें कोरोना के ख़िलाफ़ संघर्ष में बड़ी सफलता मिलती दिख रही है।

जीविका और जीवन के इस लड़ाई में हम पूरी सावधानी से दोनों को बचाने के लिए कार्य कर रहे हैं एवं ज़रूरत पड़ने पर कड़े फ़ैसले लेने से भी नहीं हिचक रहे हैं।

शहरों में जहां हमें कोरोना के संक्रमण की चेन तोड़ने में सफलता मिली है वहीं अब सरकार ज़्यादा ध्यान ग्रामीण क्षेत्रों को ज़्यादा से ज़्यादा सुरक्षित करने पर है।

E-PASS जारी में बड़ा बदलाव

लॉकडाउन में घर से निकलने के लिए ई-पास अनिवार्य है। परिवहन विभाग की तरफ से ई-पास जारी किए जा रहे थे। ई-पास जारी करने की प्रक्रिया में बड़ा बदलाव किया गया है।

ई-पास बनाने में आसानी इतनी ज्यादा हो गई थी कि लोगों ने गाड़ी का नंबर, पता आदि का सही विवरण दिए बिना ही पास बनवा लिए।

जब तक राज्य सरकार सख्त होती तबतक लाखों ई-पास बनकर तैयार हो चुके थे।

अब राज्य सरकार ने पास बनने के लिए निर्धारित श्रेणियों में से तीन के लिए E-PASS बनने के पूर्व निबंधित मोबाइल पर ओटीपी आने की व्यवस्था लागू कर दी है। अब E-PASS पोर्टल में वेरीफिकेशन का ऑप्शन डाला गया है।

अगर आप अपने मोबाइल नंबर से रजिस्ट्रेशन कराते हैं, तो आपके पास ओटीपी आएगा।

मतलब अब आपके मोबाइल नंबर पर आने वाले ओटीपी से वेरिफिकेशन के बाद ही पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन होगा।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button