झारखंड में यहां विदेश से लौटे 12 लोगों के सैंपल की होगी जीनोम सीक्वेंसिंग

धनबाद: कोरोना के नए वेरिएंट ओमीक्रोन के खतरे को देखते हुए एसएनएमएमसीएच (पीएमसीएच) का माइक्रोबायोलॉजी विभाग 12 सैंपलों का जीनोम सीक्वेंसिंग कराएगा। यह सैंपल विदेश से बोकारो आए लोगों का है।

माइक्रोबायोलॉजी विभाग के विभागाध्यक्ष डॉ सुजीत तिवारी ने बताया कि एक-दो दिनों में इन सैंपलों को जिनोम सीक्वेंसिंग के लिए लाइव साइंस लेबोरेटरी भुवनेश्वर भेज दिया जाएगा।

बता दें कि आरटी-पीसीआर जांच के लिए बोकारो जिला का सैंपल धनबाद मेडिकल कॉलेज के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में भेजा जाता है। इसमें 12 सैंपल वैसे लोगों का है, जो विदेश से बोकारो आए हैं।

विदेशों में बढ़ रहे कोरोना के ओमीक्रोन वेरिएंट के मामले को देखते हुए विभाग ने इन सैंपलों का जीनोम सीक्वेंसिंग कराने का निर्णय लिया है। इसके लिए इन सैंपलों को भुवनेश्वर भेजा जाना है।

इसकी औपचारिकता पूरी की जा रही है। माइक्रोबायोलॉजी विभाग के अधिकारियों की माने तो ओमीक्रोन वेरिएंट का कोरोना वायरस आरटी-पीसीआर जांच को चकमा दे सकता है।

इसकी आशंका बनी हुई है। इसी आशंका को देखते हुए विदेश से लौटे लोगों के स्वाब के सैंपल का जीनोम सीक्वेंसिंग कराने का निर्णय लिया है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button