झारखंड

हेमंत के CM रहने से बहन-बेटियों को मिलती थी पढ़ने-लिखने की हिम्मत, इस छात्रा ने…

एक स्कूली छात्रा की ओर से झारखंड (Jharkhand) के पूर्व CM हेमंत सोरेन (Hemant Soren) के नाम लिखी गई चिट्ठी की काफी चर्चा हो रही है।

Palamu News: एक स्कूली छात्रा की ओर से झारखंड (Jharkhand) के पूर्व CM हेमंत सोरेन (Hemant Soren) के नाम लिखी गई चिट्ठी की काफी चर्चा हो रही है। इस चिट्ठी में सातवीं कक्षा की एक छात्रा ने स्कूल के क्लास रूम से Hemant Soren की तस्वीर हटाए जाने के बाद अपनी भावनाओं को लिखा है।

स्कूली छात्रा का कहना है कि Hemant Soren के CM रहने से कई बहन-बेटियों को पढ़ने-लिखने की हिम्मत मिली थी।

मैं आंसू नहीं बहाऊंगा, समय के लिए बचा कर रखूंगा

पूर्व मुख्यमंत्री Hemant Soren ने कथित जमीन घोटाले में ED की गिरफ्तारी के बाद विधानसभा के विशेष सत्र में काफी भावपूर्ण भाषण दिया था। हेमंत सोरेन ने उस भाषण में कहा था- ‘मैं आंसू नहीं बहाऊंगा, समय के लिए बचा कर रखूंगा’। अब Palamu के एक सरकारी स्कूल में सातवीं कक्षा में पढ़ने वाली एक छात्रा का कहना है- ‘अब हमने भी रोना बंद कर दिया है’।

मनीषा पांडेय ने हेमंत सोरेन के नाम चिट्ठी में लिखा….

पलामू जिले में CM स्कूल ऑफ एक्सिलेंस में 7वीं क्लास की छात्रा मनीषा पांडेय ने हेमंत सोरेन के नाम चिट्ठी में लिखा है- ‘हमारे प्यारे हेमंत अंकल, अभी आपकी ओर से बनाए गए School of Excellence जिला स्कूल मेदिनीनगर में दाखिल लेकर पढाई कर रही हूं।

इससे पहले मोहल्ले के निजी स्कूल से निकलकर यहां तक आने का मेरा सफर किसी सपने के साकार होने से कम नहीं था। इस स्कूल में आकर हम काफी खुश हैं। आज मेरे स्कूल से आपका फोटो हटाया जा रहा था। यह देखकर हमें तकलीफ हुई और यह पत्र लिखने से अपने आपको रोक नहीं पाई।

उसने लिखा है कि आपके रहने से एक हिम्मत, ताकत मिली थी कि अब कोई बहन-बेटी पढ़ाई-लिखाई नहीं छोड़ेंगी। Hemant अंकल अब हमने भी रोना बंद कर दिया है और पढ़ाई-लिखाई पर ध्यान दे रही हूं। अब अपने स्कूल में आपका फोटो देखना चाहती हूं।

Back to top button
Close

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker