भारत और अमेरिका रक्षा प्रौद्योगिकी में सहयोग पर हुए सहमत

मानव रहित हवाई वाहन के लिए पहली परियोजना पर समझौता बड़ी उपलब्धि

नई दिल्ली: भारत और अमेरिका रक्षा प्रौद्योगिकी सहयोग को मजबूत करने पर सहमत हुए हैं। समूह की पिछली बैठक के बाद वायु प्रणालियों के तहत एयर-लॉन्च किए गए मानव रहित हवाई वाहन के लिए पहली परियोजना पर समझौता भी हुआ है।

आला प्रौद्योगिकियों के विकास को और प्रोत्साहित करने के लिए रक्षा उद्योग सहयोग मंच ने वर्चुअल एक्सपो भी आयोजित किया। रक्षा प्रौद्योगिकी और व्यापार पहल (डीटीटीआई) समूह का उद्देश्य रक्षा उपकरणों के सह-उत्पादन और सह-विकास के अवसर पैदा करना है।

भारत और संयुक्त राज्य अमेरिका (यूएस) के बीच 11वीं रक्षा प्रौद्योगिकी और व्यापार पहल (डीटीटीआई) समूह की वर्चुअल बैठक की अध्यक्षता भारतीय रक्षा मंत्रालय के सचिव (रक्षा उत्पादन) राज कुमार और अमेरिकी रक्षा विभाग के अवर रक्षा सचिव मिस्टर ग्रेगरी कौसनर ने संयुक्त रूप से की।

डीटीटीआई समूह की बैठकें आम तौर पर भारत और अमेरिका के बीच बारी-बारी से एक दूसरे के यहां साल में दो बार आयोजित की जाती हैं। यह बैठक कोरोना महामारी के कारण लगातार दूसरी बार वीडियो टेलीकांफ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित की गई थी।

डीटीटीआई समूह की पिछली बैठक के बाद सितंबर, 2020 में गठित संयुक्त कार्य समूह ने एयर सिस्टम के तहत एयर-लॉन्च किए गए मानव रहित हवाई वाहन के लिए पहली परियोजना के समझौते पर हस्ताक्षर किए हैं जो डीटीटीआई के लिए एक बड़ी उपलब्धि है।

डीटीटीआई समूह का उद्देश्य द्विपक्षीय रक्षा व्यापार संबंधों में निरंतर नेतृत्व पर ध्यान केंद्रित करना और रक्षा उपकरणों के सह-उत्पादन और सह-विकास के अवसर पैदा करना है।

डीटीटीआई के तहत भूमि, नौसेना, वायु और विमान वाहक प्रौद्योगिकियों पर केंद्रित चार संयुक्त कार्य समूहों की स्थापना की गई है ताकि उनके डोमेन के भीतर परस्पर सहमत परियोजनाओं को बढ़ावा दिया जा सके।

समूहों ने सह-अध्यक्षों को चल रही गतिविधियों के बारे में जानकारी दी, जिसमें प्राथमिकता के आधार पर जल्द पूरा करने के लक्ष्य वाली परियोजनाएं भी शामिल हैं। दोनों देशों के प्रतिनिधियों ने रक्षा प्रौद्योगिकी सहयोग पर संवाद को मजबूत करने की प्रतिबद्धता पर सहमति जताई।

डीटीटीआई समूह के तहत विशिष्ट प्रौद्योगिकियों को विकसित करने के लिए अमेरिकी और भारतीय उद्योगों को प्रोत्साहित करने के लिए रक्षा उद्योग सहयोग मंच (डीआईसीएफ) वर्चुअल एक्सपो अभी 08 नवंबर को आयोजित किया गया था।

डीआईसीएफ का आयोजन संयुक्त सचिव (रक्षा उद्योग संवर्धन) अनुराग बाजपेयी और औद्योगिक नीति के लिए उप सहायक रक्षा सचिव जेसी सालाजार ने किया था।

यह मंच भारतीय और अमेरिकी उद्योगों को सीधे डीटीटीआई में शामिल होने और औद्योगिक सहयोग को प्रभावित करने वाले मुद्दों पर सरकार और उद्योग के बीच संवाद की सुविधा प्रदान करता है। इसमें हुई चर्चा के परिणामों के बारे में डीटीटीआई समूह के सह-अध्यक्षों को जानकारी दी गई।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button