कोरोना के चलते अंतर्राष्ट्रीय उड़ानें 31 दिसंबर तक रहेंगी निलंबित

नई दिल्ली: कोरोना संकट को देखते हुए केंद्र ने गुरुवार को अंतर्राष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री उड़ानों की आवाजाही पर रोक लगा दी है। 31 दिसंबर तक भारत में न तो कोई कॉमर्शियल अंतर्राष्ट्रीय उड़ान आ पाएगी और न ही यहां से उड़ान भर पाएगी।

गुरुवार को जारी आधिकारिक बयान में कहा गया, ये प्रतिबंध डीजीसीए (नागर विमानन महानिदेशालय) द्वारा अनुमोदित कार्गो संचालन और सेवाओं पर लागू नहीं होंगे।

बयान में यह भी कहा गया कि सीमित मार्गो पर चुनिंदा अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को सक्षम अधिकारियों द्वारा मामले के आधार पर संचालन की अनुमति दी जा सकती है।

फिलहाल भारत में कुछ देशों के साथ द्विपक्षीय समझौते के आधार पर एयर बबल व्यवस्था के तहत विशेष अंतर्राष्ट्रीय उड़ान सेवाओं का परिचालन हो रहा है।

इस व्यवस्था के अंतर्गत दोनों देशों के बीच अंतर्राष्ट्रीय उड़ानों को उनकी एयरलाइंस द्वारा संचालित करने की अनुमति दी गई है।

कोविड-19 के प्रसार पर अंकुश लगाने के मद्देनजर देशव्यापी लॉकडाउन के चलते 25 मार्च को यात्री हवाई सेवाओं को निलंबित कर दिया गया था।

दो महीने के अंतराल के बाद 25 मई को घरेलू उड़ान सेवा दोबारा शुरू की गई थी।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button