किम के बाद उसकी बहन ने अमेरिका को सुनाई खरी-खरी

सियोल: उत्तर कोरिया के नेता किम जोंग उन की शक्तिशाली बहन किम यो जोंग ने अमेरिका के साथ कूटनीति जल्द बहाल होने की संभावनाओं को खारिज कर कहा है, कि वार्ता को लेकर अमेरिका की उम्मीदें उस और अधिक निराश करेंगी।

किम जोंग उन ने हाल में अपने अधिकारियों से कहा था कि वे वार्ता और टकराव दोनों के लिए तैयार रहें।

अमेरिका के राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार जेक सुलिवन ने किम जोंग उन के इस बयान को ‘‘दिलचस्प संकेत’ बताया था। सुलिवन की टिप्पणी के बाद किम जोंग उन की बहन किम यो जोंग ने यह बयान दिया।

स्थानीय मीडिया के अनुसार, किम यो जोंग ने कहा, ऐसा लगता है कि अमेरिका हालात की व्याख्या स्वयं को दिलासा देने के लिए कर रहा है।

उन्होंने कहा कि अमेरिका की यह उम्मीद उस और निराश कर देगी। उनका यह बयान तब आया, जब उत्तर कोरिया मामलों के शीर्ष अमेरिकी दूत सुंग किम दक्षिण कोरिया के दौरे पर हैं।

सुंग किम ने सोमवार को कहा कि उन्हें उम्मीद है कि उत्तर कोरिया वार्ता के अमेरिकी प्रस्तावों पर जल्द ही सकारात्मक प्रतिक्रिया देगा।

दूसरी ओर, किम ने अपनी परमाणु क्षमता बढ़ाने की धमकी दी है और कहा है कि कूटनीति और द्विपक्षीय संबंधों का भविष्य इस बात पर निर्भर करता है कि वाशिंगटन उन नीतियों को छोड़ता है या नहीं, जिन्हें वह शत्रुतापूर्ण समझते हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button