मुक्केबाजी में जैस्मीन ने अपना पहला इंटरनेशलनल पदक पक्का किया

कैस्टेलन (स्पेन): हरियाणा की उभरती हुई महिला मुक्केबाज जैसमीन ने अपनी पहली सीनियर इंटरनेशनल टूर्नामेंट में विजयी शुरुआत करते हुए स्पेन के कैस्टेलन में चल रहे बॉक्सम एलीट इंटरनेशनल टूर्नामेंट में 57 किग्रा के सेमीफाइनल में प्रवेश कर लिया।

जैसमीन ने इसके साथ ही अपने और देश के लिए पदक पक्का कर दिए है। टूर्नामेंट के तीसरे दिन आठ भारतीय अपने क्र्वाटर फाइनल मुकाबले खेलेंगे।

टूर्नामेंट के दूसरे दिन महिला मुक्केबाज जैसमीन ने 57 किग्रा वर्ग में अमेरिका की एंद्रिया मेदिना को 5-0 से हराकर सेमीफाइनल में पहुंचने के साथ ही पदक पक्के किए।

जैसमीन के अलावा छह बार की विश्व चैंपियन एमसी मैरीकॉम (51 किग्रा), एशियाई चैम्पियन पूजा रानी (75 किग्रा) और सिमरनजीत कौर (60 किग्रा) भी सेमीफाइनल में पहुंच गई और अपने लिए पदक पक्के कर लिए।

रानी ने इटली की असुंता कैनफोरा को 5-0 से जबकि सिमरनजीत ने स्ेपन की यूगेनिया अल्बोंस को 5-0 से मात दी।

हालांकि दो बार की विश्व कांस्य पदक विजेता लवलीना बोरगोहेन (69 किलो) क्वार्टर फाइनल में हारकर बाहर हो गई।

 टोक्यो ओलंपिक के लिये क्वालीफाई कर चुकी लवलीना को रूस की सादम दालगातोवा ने 5-0 से हराया।

वहीं, एशियाई कांस्य पदक विजेता मनीषा मौन (57 किलो) भी इटली की इरमा तीस्ता से 5- 0 से हारकर बाहर हो गई।

इससे पहले, मैरीकॉम ने अपने वर्ग के मुकाबले में इटली की गिओरडाना सोरेंटिनो को 3-2 से हराकर सेमीफाइनल में जगह बनाई। मैरीकॉम इस साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक के लिए पहले ही क्वालीफाई कर चुकी हैं।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button