झारखंड

BGH पहुंचे शिक्षा मंत्री, आकाशीय बिजली से घायल बच्चों से मिलकर बोले- राज्य के सभी स्कूल में लगेंगे तड़ित चालक

बोकारो: जैनामोड़ पर स्थित मध्य विद्यालय बांधडीह पर शनिवार दोपहर आकशीय बिजली (lightning) गिर गई।

स्कूल के बरामदे में बिजली की चपेट में आकर 30 छात्र झुलस गए जिन्हें रेफरल अस्पताल लाया गया। इनमें से गंभीर अवस्था में झुलसी चौथी कक्षा की छात्रा डॉली को बोकारो जनरल अस्पताल रेफर कर दिया गया।

बांधडीह मध्य विद्यालय (Middle school) में आकाशीय बिजली की चपेट में आये बच्चों का हालचाल लेने के लिए शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो (Jagarnath Mahato) बोकारो जनरल अस्पताल पहुंचे और बच्चों की स्थिति का जायजा लिया।

इस मौके पर उन्होंने कहा कि झारखंड के सभी स्कूल में तड़ित चालक लगाया जाएगा ताकि भविष्य में वज्रपात संबंधित कोई घटना नहीं हो।

उन्होंने कहा कि स्कूल में तड़ित चालक लगाने संबंधित आदेश फौरन जारी किया जायेगा, जहां तक बांधडीह मध्य स्कूल की बात है, यहां 10 दिन के अंदर तड़ित चालक लगेगा। 11वें दिन स्कूल का फिर से मुआयना (Check up) किया जायेगा।

विद्यालय में नहीं लगा है तड़ित चालक

स्कूल के प्रधानाध्यापक शशि भूषण महतो ने बताया कि दोपहर 12:30 बजे के करीब हल्की-हल्की बारिश हो रही थी। इसी दौरान कक्षा एक और दो के बरामदे में बिजली गिरी।

जैसे ही बिजली गिरने का एहसास हम लोग उस ओर भागे। सभी बच्चे इस घटना से डर कर चिल्ला रहे थे। किसी आशंका को भांपते हुए आनन-फानन में बच्चों को जैनामोड़ सदर अस्पताल (Sadar Hospital) पहुंचाया गया।

उसके बाद घटना की जानकारी वरीय पदाधिकारियों को दी गई। प्रधानाध्यापक शशि भूषण महतो ने बताया कि इस घटना में 25 से 30 बच्चे घायल हुए। एक बच्ची गंभीर स्थिति में है।

विद्यालय में तड़ित चालक नहीं होने के सवाल पर उन्होंने बताया कि वर्ष 2004 में विद्यालय में तड़ित चालक लगाया गया था।

लेकिन उसके बाद 8 से 10 डीडीओ और प्रधानाध्यापक बदले, लेकिन यहां तड़ित चालक नहीं लगाया गया।

उन्होंने बताया कि वे खुद 1 जून 2021 से विद्यालय के चार्ज में है। लेकिन जब मुझे विद्यालय हैंडोवर दिया गया तो उसमें तड़ित चालक का जिक्र नहीं था। जानकारी के मुताबिक विद्यालय में तड़ित चालक (Lightning-conductor) की चोरी गई है।

Back to top button

Adblock Detected

Please consider supporting us by disabling your ad blocker