कोडरमा के इस अस्पताल को बच्चों के लिए किया गया खास तौर

कोडरमा: कोरोना की संभावित तीसरी लहर में यह अनुमान लगाया जा रहा है की इस लहर में 2 से 18 वर्ष तक के बच्चे सबसे ज्यादा प्रभावित होंगे।

ऐसे में संभावित कोविड के तीसरे लहर देखते हुए जिला प्रशासन कोडरमा द्वारा राहत व बचाव के क्रम में अब सदर अस्पताल में चाइल्ड फैंडली डेडिकेटड पीडीऐट्रिक वार्ड व डेडिकेटड कोविड हेल्थ सेंटर का निर्माण किया गया है।

गुरुवार को दोपहर 12.30 बजे इनका ऑनलाइन उद्घाटन स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण मंत्री बन्ना गुप्ता द्वारा किया जाएगा।

इसी निमित्त उपायुक्त रमेश घोलप ने चाइल्ड फ्रैंडली डेडिकेटड पीडीऐट्रिक वार्ड व डेडिकेटड कोविड हेल्थ सेंटर के अंतिम तैयारियों का जायजा लिया।

उन्होंने सभी उपस्थित पदाधिकारियों को निदेश दिया कि वे समय से पूर्व सारी ब्यवस्था एवं तैयारियों को दुरुस्त कर लें। चाइल्ड फ्रैंडली डेडिकेटड पीडीऐट्रिक वार्ड में 20 बेड पूरी तरह पाइपलाइन ऑक्सीजन युक्त रहेंगे।

जरूरत के अनुसार इन बेडो की संख्या भविष्य में बढ़ाई जा सकती है। वार्ड में 2 से 18 वर्ष बच्चों के उपचार हेतु आवश्यक चिकित्सीय सुविधाओं की व्यवस्था की गई है।

पीडीऐट्रिक वार्ड में चिकित्सक एवं पारामेडिकल स्टाफ की नियुक्ति की गयी है, जो रोस्टर के अनुसार चौबीसों घंटे रहकर कार्य करेंगे। साथ ही डॉक्टर ड्यूटी रुम, कंट्रोल रुम, ऑक्सीजन रुम व हेल्प डेस्क की व्यवस्था की गयी है।

आमजनों को हॉस्पिटल भवन खोजने में दिक्कत ना हो इसलिए प्रवेश द्वार से ही हॉस्पिटल तक पहुंचने के लिए जगह जगह रास्ते में साइनेज लगाया गया है।

शौचालय की व्यवस्था की गई है, जिसकी नियमित साफ सफाई हेतु नगर पंचायत को आवश्यक दिशा निर्देश दिया गया है।

वार्ड में चिकित्सीय सेवा प्रदान करने हेतु डॉक्टर और सपोर्टिंग पारा मेडिकल स्टॉप को चिन्हित करते हुए लगाया गया है।

वार्ड को बिल्डिंग एज लर्निंग ऐड के तर्ज तैयार किया गया है। वार्ड का वातावरण जिस प्रकार तैयार किया गया है कि छोटे बच्चों को वहां घर जैसा माहौल प्राप्त हो सके ताकि बच्चे किसी प्रकार के अकेलापन महसूस नहीं करेंगे।

वार्ड की दीवारों को प्रेरणादायक एवं छोटे-छोटे स्लोगन दर्शाए गए हैं ताकि उस वार्ड में रहने वाले बच्चों खुश रह सकेंगे तथा उन्हें बीमारी से भी ऐसा प्रतीत हो सकेगा कि वह अपने घर और स्कूल में हैं ना कि अस्पताल में।

वार्ड की दीवारों पर प्रमुख कार्टून करैक्टर जैसे डोरेमोन, मोटू पतलू, टॉम एंड जेरी, छोटा भीम, लिटिल सिंघम इत्यादि का पेंटिंग एवं कार्टून कॉर्नर का निर्माण किया गया है ताकि बच्चे इस माहौल को इंजॉय कर सकें और उन्हें अकेलापन महसूस ना हो।

वार्ड में टीवी, कॉमिक्स बुक इत्यादि की व्यवस्था की गई है। बच्चों के लिए प्राप्त मात्रा में कलरफुल बेडशीट आदि की व्यवस्था की गई है। बच्चों के उपयोगी के लिए कलरफुल बर्तन मग-प्लेट की व्यवस्था की गई है।

वार्ड में म्यूजिक सिस्टम की व्यवस्था की गई है जो उनके सफल इलाज के लिए सहयोग बच्चों के मनोरंजन के लिए इंनडोर खेल लूडो, कैरमबोर्ड, चेस इत्यादि की व्यवस्था गयी है।

हम एक गैर-लाभकारी संगठन हैं। हमारी पत्रकारिता को किसी भी दबाव से मुक्त रखने के लिए आर्थिक मदद करें।
Back to top button